दैनिक भास्कर हिंदी: दैनिक भास्कर के योग शिविर में योग विशेषज्ञ ने कहा- योग के लिए एकाग्रता सबसे जरूरी

November 27th, 2018

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  सुबह-सुबह डॉ. बाबासाहब आंबेडकर नासुप्र उद्यान, वैशाली नगर के हरे-भरे प्रांगण मे दैनिक भास्कर के तीन दिवसीय योग भास्कर का समापन हुआ। इस दौरान  योग अभ्यासकों को विभिन्न प्रकार के योग, आसनों का प्रशिक्षण दिया गया। योगाभ्यास संबंधित  कौशल्य को जानने और समझने की चाहत लेकर आए लोगों की समस्याओं का समाधान भी किया गया। पंतजलि योगपीठ हरिद्वार से प्रशिक्षित योग विशेषज्ञ प्रशिक्षक  हंसराज के. मिश्रा  द्वारा सहज सरल शैली में प्रशिक्षण दिया गया।

हर उम्र के लोग हुए शामिल
योग भास्कर में सभी आयु वर्ग के स्त्री-पुरुष तथा विद्यार्थियों ने  उपस्थित रहकर  योग पद्धति और प्रक्रिया की बारीकियां जानी। योग साधकों को योग से होने वाले फायदों की भी जानकारी दी गई।  साथ ही सभी को हर दिन कम से कम आधा घंटा समय निकाल  कर योग अभ्यास करने की सलाह दी गई,  जिसमे सूक्ष्म क्रियाओं के द्वारा शरीर चालन, मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य के लिए प्राणायामों के अभ्यास,  शारीरिक सुडौलता के लिए शरीर में लचीलापन लाने  के लिए  आसनों को बताया गया।

हेल्थ को लेकर मार्गदर्शन
समापन अवसर पर  रोजमर्रा के आरोग्य से संबंधित आवश्यक पहलुओं से  अवगत कराया गया। आहार, निद्रा और संयम का योग में महत्व को समझाया गया। यौगिक युक्ताहार, श्वान जैसी नींद और बगुले की तरह ध्यान की स्थिति को उदाहरणों के माध्यम से बताया गया। यौगिक जागिंग और सूर्य नमस्कार के अभ्यास, पाचन प्रणाली के दोषों से छुटकारा पाने, मधुमेह की समस्याओं  में कारगर "मंडुकासन’ को समझाया गया। योग साधकों से जोश-उमंग भर देने में और तनाव को घटाने में सहायक "सिंहासन'  तथा "हास्यासन' भी कराए गए। अंत में मन की शांति के लिए शांति पाठ और याैगिक  तालियों से सत्र का समापन किया गया। 

इनका रहा सहयोग
समापन सत्र में विशेष रूप से  विक्की  कुकरेजा और डॉ. ममतानी उपस्थित थे। "योग भास्कर" शिविर संचालन में शिविरों के समन्वयक राजेश मिश्रा, हिमांशु मिश्रा, दिलीप मुरकुटे, विवेक मून का योगदान रहा। सुभाष कुलश्रेष्ठ, मीना कुलश्रेष्ठ, अर्चना धाबेकर, जगदीश राठौड़, इंद्रजीत नरवटे, योगिता पराते, महादेव शेंडे, मदन सांगोले, देवीदास ठाकुर, चिंतामण राऊत,  सुरेश दुर्गे, अरुण गुणरकर, किशोर जानगडे, शंकर कायरकर, काशीनाथ सातपुते, अनिता शेगोकार, प्रवीण पोकले,  हेमराज पौनीकर, नंदकिशोर पांडे आदि का सहयोग रहा।