दैनिक भास्कर हिंदी: जिला परिषद आरक्षण ड्रॉ ने किया मायूस, 3 सभापति समेत 20 सदस्यों को झटका

May 2nd, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। जिला परिषद सर्कलों के आरक्षण का ड्रॉ निकाला गया। जिप अध्यक्ष निशा सावरकर, महिला व बाल कल्याण समिति सभापति पुष्पा वाघाड़े को छोड़ अन्य सभी पदाधिकारी, सत्तापक्ष तथा नेता प्रतिपक्ष और 20 सदस्यों को आरक्षण का करारा झटका लगा है। बता दें कि पांच वर्ष का कार्यकाल समाप्त होने के बाद तीसरी बार ड्रॉ निकाला गया।

यह है प्रक्रिया
जिलाधिकारी कार्यालय के बचत भवन में जिलाधिकारी अश्विन मुद्गल की उपस्थिति में एक शालेय विद्यार्थी के हाथों ड्रॉ निकाला गया। जिप के 58 सर्कल की पुनर्रचना का सर्कल के अनुसार आरक्षण घोषित किया गया। ड्रॉ निकाल कर आरक्षित सीटों की घोषणा की गई। ड्रॉ निकाल कर आरक्षित किए गए सीट के लिए पात्र नहीं रहने से अनेक सदस्य अपने पारंपरिक क्षेत्र से चुनाव नहीं लड़ सकेंगे। यदि चुनाव लड़ना चाहते हैं, तो उन्हें निर्वाचन क्षेत्र बदलने की नौबत आ गई है। कुछ सदस्यों को पड़ोस के क्षेत्र में जमीन तलाशने का मौका है, जबकि अधिकांश सदस्यों को आसपास के क्षेत्र में भी कोई गुंजाइश नहीं रह जाने से उन्हें घर बैठने के सिवा और कोई चारा नहीं रहा। जिससे इन लोगों में मायूसी छायी हुई है।

जिला परिषद अध्यक्ष का आरक्षण पहले ही तय हो चुका है। इस बार अध्यक्ष पद एससी महिला के लिए आरक्षित है। जिले में एससी महिला के लिए 5 क्षेत्र आरक्षित किए गए हैं। अध्यक्ष पद के लिए दमदार उम्मीदवार खड़ा करने के लिए सभी दलों की ओर से जोर-आजमाइश की जाएगी। 

सर्वसाधारण 25 : मेटरपांजरा, कोंढाली (महिला), बड़ेगाव (महिला), खात (महिला), वडंबा, वलनी, माहुली, बोरखेड़ी फाटक (महिला),  कोराडी, येरखड़ा, खड़की (महिला), गोंडेगांव, कांद्री, वायगांव (महिला), बेला (महिला), वेलतूर (महिला), दवलामेटी, रायपुर, सिल्ली (महिला), मांढल (महिला), तारसा (महिला), नगरधन, चाचेर, धानला, मकरधोकड़ा (महिला)

कुल सीट 58
अनुसूचित जाति (खुला)         5
अनुसूचित जाति (महिला)      5
अनुसूचित जनजाति (खुला)    3
अनुसूचित जनजाति (महिला) 4
अन्य पिछड़ा वर्ग (खुला)        8
अन्य पिछड़ा वर्ग (महिला)     8
सर्वसाधारण                      13
सर्वसाधारण (महिला)         12
महिला आरक्षित क्षेत्र          29
 

खबरें और भी हैं...