comScore

Tracking app: सरकार ने आरोग्य सेतु एप का सोर्स कोड पब्लिक किया, खामी निकालने वाले को मिलेंगे 1 लाख रुपए

Tracking app: सरकार ने आरोग्य सेतु एप का सोर्स कोड पब्लिक किया, खामी निकालने वाले को मिलेंगे 1 लाख रुपए

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी से बचाव और जागरुकता के लिए भारत सरकार ने अप्रैल माह में आरोग्य सेतु (Aarogya Setu) एप को लॉन्च किया था। वहीं अब केंद्र सरकार ने आरोग्य सेतु के एंड्रॉयड वर्जन का सोर्स कोड पब्लिक कर दिया है। इसी के साथ ओपन सोर्स होने वाला यह दुनिया का पहला सरकारी एप बन गया है। इस बात की घोषणा हाल ही में नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने की है।

ऐप का सोर्स कोड जारी होने के बाद अब सिक्योरिटी टेस्ट करने वाले डेवेलपर्स और हैकर्स इस ऐप को बेहतर तरीके से टेस्ट कर पाएंगे। इस ऐप की खामियां और खूबियां निकल कर सामने आएंगी जिससे इस ऐप को प्राइवेसी के लिहाज से बेहतर किया जा सकेगा।

आपको बता दें कि बीते दिनों कई बड़े एथिकल हैकर्स ने इस एप की प्राइवेसी पर सवाल उठाए हैं। वहीं इसके सोर्स कोड को पब्लिक करने की भी मांग की गई थी। जिसके बाद सरकार ने यह निर्णय लिया है। आरोग्य सेतु एप को ओपन सोर्स किए जाने का मतलब है कि दुनिया का कोई भी डेवलपर यह जान सकता है कि आरोग्य सेतु में कौन-कौन सी जानकारी स्टोर हो रही है और एप आपके फोन में क्या कर रहा है। 

iQOO 3 5G ट्रांसफॉर्मर्स लिमिटेड एडिशन लॉन्च, जानें इसकी खूबियां

1 लाख रुपए का इनाम
इस ऐप की डेवेलपर NIC (नेशनल इनफॉरमेटिक्स सेंटर) है, इसने इस ऐप के लिए बग बाउंटी की भी घोषणा की है। सीधे शब्दों में कहें तो इस एप में बग को खोजने के लिए बग बाउंटी प्रोग्राम की घोषणा की गई है। जिसके तहत आरोग्य सेतु एप में कोई बग खोजने पर एक लाख रुपए का इनाम दिया जाएगा। सरकार ने सभी डेवलपर्स का स्वागत करते हुए कहा कि एप को लेकर यदि उनके मन में कोई सवाल है, कोई कमी है या फिर कोई सुझाव है तो उसका स्वागत है।

3 हजार हॉटस्पॉट की पहचान
रिपोर्ट के अनुसार आगामी दिनों में सरकार आरोग्य सेतू ऐप के iOS और KaiOS वर्जन का भी सोर्स कोड जारी कर सकती है। फिलहाल अमिताभ कांत के अनुसार, 40 दिनों में इस एप को 10 करोड़ लोगों ने डाउनलोड किया है। इस एप को यूज करने वाले 90 फीसदी यूजर्स एंड्रॉयड फोन वाले हैं। आरोग्य सेतु एप को लेकर कांत ने बताया ​कि इस ऐप ने 3 से 17 दिनों के समय में 3 हजार हॉटस्पॉट की पहचान की है।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में लोगों से इसे ऐप को डाउनलोड करने की अपील की थी। यह एप ये ऐप Android (एंड्रॉयड) और iOS (आईओएस) प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है।  

Smart Device: Realme ने भारत में Smart TV ​सहित ये डिवाइस किए लॉन्च

क्या होता है ओपन सोर्स कोड ?
किसी भी एप का एक बेसिक प्रोग्राम होता है जिसे डेवेलपर या प्रोग्रामर तैयार करते हैं। इसे ही सोर्स कोड कहा जाता है, जिसे एक आम यूजर भी आसानी से बिना किसी परेशानी के पढ़ और समझ सकता है। इसमें ऐप के सभी कमांड्स होते हैं। इसे यूज करके स्वतंत्र शोधकर्ता ये टेस्ट कर सकते हैं कि ऐप कैसे काम करता है?  

कमेंट करें
uT1qS