दैनिक भास्कर हिंदी: Battlegrounds Mobile India: क्या बैन हो सकता है PUBG का नया अवतार? सामने आया चीनी कनेक्शन

June 21st, 2021

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। PUBG गेम निर्माता कंपनी KRAFTON ने पिछले हफ्ते 'Battlegrounds Mobile India' के बीटा वर्जन को भारत में उपलब्ध कराया था। यह गेम PUBG (पबजी) का भारतीय अवतार है, जिसे अब तक 50 लाख से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है। लेकिन लॉन्च से पहले ही ये गेम विवादों में घिर गया है। दरअसल, Battlegrounds Mobile India (बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया) का चीनी कनेक्शन सामने आया है। ऐसे में Battlegrounds Mobile India की लॉन्चिंग खतरे में पड़ सकती है।

यही नहीं हाल ही में कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने PUBG मोबाइल को बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया के रूप में फिर से लॉन्च किए जाने के खिलाफ आवाज उठाई है। कैट ने केंद्र सरकार को इसको लेकर पत्र भी लिखा है। आइए जानते हैं इस गेम के नए विवाद के बारे में...

M-Yoga ऐप: विश्व योग दिवस पर पीएम मोदी ने लॉन्च किया ऐप, जानें इसकी खासियत

क्या है चीनी कनेक्शन
IGN India की रिपोर्ट के अनुसार, Battlegrounds Mobile India का डेटा चीनी सर्वर पर भेजा जा रहा है। इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि Battlegrounds Mobile India के एक सर्विस का डेटा बीजिंग लोकेशन पर भेजा जा रहा है। इन सर्वर को Tencent कंपनी चलाती है। यूजर के डिवाइस का डेटा Tencent की सहायक हांग-कांग बेस्ड कंपनी Proxima Beta के साथ Microsoft Asure सर्वर पर भेजा जा रह है जो यूएस, मुंबई और मास्को में स्थित हैं।

IGN India की एक रिपोर्ट के अनुसार, क्राफ्टन द्वारा पिछले साल बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया की घोषणा के समय कही गई बातों के अनुरूप नहीं है।

IGN India की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में Android उपयोगकर्ताओं के लिए कुछ बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया खिलाड़ियों के साथ-साथ स्वतंत्र सत्यापन का दावा पिछले साल गेम की घोषणा के समय कही गई बातों के अनुरूप नहीं है। आईजीएन इंडिया के लोगों ने बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया पर एक मैच खेलने से पहले डेटा पैकेट स्निफर ऐप का इस्तेमाल किया। जिसमें पता चला कि गेम वास्तव में चीन में सर्वरों के साथ डेटा का आदान-प्रदान कर रहा है जो स्थानीय नहीं हैं।

Vivo V21e 5G सुपर नाइट सेल्फी कैमरा के साथ इस दिन होगा लॉन्च, सपोर्ट पेज लाइव हुआ

पैकर स्निफर ऐप का लॉग कई आईपी पते दिखाता है कि बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया ने कई चीजों के लिए एक कनेक्शन स्थापित किया है। whois सर्च (आईपी एड्रेस की उत्पत्ति को ट्रैक करने के लिए सर्च इंजन) का उपयोग करने पर, आईजीएन इंडिया ने पाया कि एक प्रमुख आईपी एड्रेस था जिसका बैटलग्राउंड मोबाइल ज्यादातर इस्तेमाल करता था और यह चीनी राज्य के स्वामित्व वाली टेलीकॉम ऑपरेटर चाइना मोबाइल कम्युनिकेशंस कॉर्पोरेशन का था। रिपोर्ट के अनुसार सर्वर बीजिंग में स्थित है और इसने एक चौंकाने वाला रिवेलेशन भी किया कि गेम डिवाइस डेटा भेज रहा था। 

whois लॉग में IP पतों के उदाहरणों से पता चलता है कि बैटलग्राउंड मोबाइल वास्तव में चीन को डेटा भेज रहा है। लेकिन क्या यह इसे किसी उद्देश्य के लिए एकत्रित कर रहा है, फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हुआ है।