दैनिक भास्कर हिंदी: आखिर हैकर्स क्यों चाहते हैं, आप हमेशा घर के वाईफाई नेटवर्क से जुड़े रहें?

August 7th, 2019

हाईलाइट

  • हैकर्स चाहते हैं कि आप हमेशा घर के वाईफाई नेटवर्क से जुड़े रहें
  • घर के वाईफाई नेटवर्क को हैक करना हैकर्स के लिए बहुत आसान है
  • इसका कारण आपके इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर का स्थापित राउटर है

नई दिल्ली, 7 अगस्त (आईएएनएस)। अगली बार आप जब स्मार्टफोन या लैपटॉप को अपेक्षाकृत सुरक्षित अपने घर के वाईफाई से कनेक्ट करेंगे तो यह जानकर आप वास्तव में आश्चर्यचकित हो जाएंगे कि आपके घर के वाईफाई नेटवर्क को हैक करना कितना आसान है, इसका कारण आपके इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर (आईएसपी) द्वारा स्थापित राउटर है।

होम वाईफाई नेटवर्क में थोड़ी सी भी भेद्यता (वलनरेबिलिटी) अपराधियों की पहुंच उन सभी डिवाइसों तक करवा सकती है, जो उस वाईफाई से कनेक्टेड हैं। इससे आपके लिए बैंक खातों, क्रेडिट कार्ड विवरण, बच्चों की सुरक्षा समेत कई तरह की परेशानियां खड़ी हो सकती है। यहां तक कि असुरक्षित होम वायरसेल प्रणाली किसी अपराध में प्रयुक्त भी किया जा सकता है।

अमेरिकी न्याय विभाग के मुताबिक, अगर आपके घर के वाईफाई का प्रयोग कर किसी ने बच्चों के पोर्न से जुड़ी सामग्री डाउनलोड या अपलोड की तो कानून प्रवर्तन एजेंसियों के अधिकारी आपके घर पहुंच जाएंगे। जबकि किसी दूर बैठे व्यक्ति ने आपका वाईफाई एक्सेस किया होगा। ऐसा इसलिए, क्योंकि शक्तिशाली वाईफाई एंटीने के जरिए चार किलोमीटर से अधिक दूरी से भी घरेलू नेटवर्क के सिग्नल को एक्सेस कर सकते हैं।

फिनलैंड की साइबर सिक्यॉरिटी फर्म एफ-सिक्योर के मुताबिक, हैकर बहुत कम पैसों के लिए एक हैक क्लाउड-संचालित कम्यूटर को किराए पर उठा सकता है और आपके नेटवर्क के पासवर्ड को शक्तिशाली कंप्यूटर द्वारा कई पासवर्ड के कांबिनेशन लगाकर मिनटों में हासिल कर लेता है।

अमेरिकी कंप्यूटर इमर्जेसी रेडीनेस टीम (यूएस-सीईआरटी) ने हाल ही में रूस द्वारा प्रायोजित हैकर्स को लेकर चेतावनी जारी की थी, जो अमेरिका में बड़ी संख्या में होम राउटर्स को निशाना बना रहे थे।

क्विक हील टेक्नोलॉजी के संयुक्त प्रबंध निदेशक और मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी संजय काटकर ने आईएएनएस को बताया, हैकर्स क्रेडिट कार्ड या बैंक एकाउंट की निजी जानकारियां चुराने के अलावा होम डिवाइस से कनेक्टेड स्मार्ट डिवाइसों को भी प्रभावित कर सकते हैं।