comScore

Remove China Apps: चाइनीज ऐप्स की छु्टटी करने वाले इस एप को 10 लाख लोगों ने किया डाउनलोड

Remove China Apps: चाइनीज ऐप्स की छु्टटी करने वाले इस एप को 10 लाख लोगों ने किया डाउनलोड

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच बढ़ते तनाव के बाद बॉयकॉट चाइना का कई लोगों ने समर्थन किया है। वहीं अब भारत में बना एक ऐसा एप पॉपुलर हो रहा है, जो स्मार्टफोन में मौजूद चाइनीज ऐप्स को स्कैन करने और डिलीट करने का दावा करता है। सिर्फ दो सप्ताह में इस ऐप को 10 लाख से ज्यादा लोगों ने डाउनलोड कियाा है और इस ऐप का नाम 'Remove China Apps' रखा गया है। 

इस एप को भारत में एक जयपुर स्थित स्टार्टअप ने बीते माह 17 तारीख को लॉन्च किया था। OneTouchAppLabs द्वारा विकसित यह ऐप फिलहाल सिर्फ एंड्रॉइड यूजर्स ही डाउनलोड कर सकते हैं। यह ऐप Google Play Store पर फ्री में उपलब्ध है। इसे 4.8 यूजर्स रेटिंग मिली हुई है।  

 चीन को सबक सिखाने के लिए स्वदेशी अपनाकर उसकी कमर तोड़ें- सोनम वांगचुक

आपको बता दें कि बीते दिनों शिक्षाविद और इनोवेटर सोनम वांगचुक ने द्वारा भारतीयों से चीनी उत्पादों का बहिष्कार करने की अपील करने के बाद चीन विरोधी अभियान शुरू किया था। इस बीच इंजीनियर ने वांगचुक को ट्विटर पर एक मैसेज पोस्ट किया, जिसमें नागरिकों को “एक सप्ताह के भीतर” चीनी सॉफ्टवेयर का उपयोग छोड़ने के लिए प्रोत्साहित किया गया। एक मैसेज में जो यह एप वायरल हो गया। 

वहीं दूसरी ओर भारत में 'आत्मनिर्भर भारत अभियान' की घोषणा के बाद से यूजर्स इंडियन ऐप्स का इस्तेमाल ज्यादा करने की बात सोशल मीडिया पर कर रहे हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार गूगल सर्च में भी यूजर्स Indian Apps लिखकर सर्च कर रहे हैं। मई के पहले सप्ताह में 31 से बढ़कर तीसरे सप्ताह में यह अनुपात बढ़कर 100 के करीब पहुंच गया है।

Tech: अलग- अलग भाषाओं में 100 वाक्य सिखाएगा मोबाइल एप

Remove China Apps को ऐसे करें यूज
- Google Play Store से इस एप को फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं।
- इस एप की साइज सिर्फ 3.3 एमबी है।
- डाउनलोड के बाद इस एप को आप यूज कर सकते हैं।
- एप ओपन करने के बाद आपको नीचे स्कैन लिखा नजर आएगा। 
- स्कैन करने पर आपके फोन में जो भी चाइना एप हैं, यह उनको सामने लाता है।
- इसके बाद आप चाइनीज एप को यहां से डिलीट भी कर सकते हैं।

कमेंट करें
qvgr5
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।