दैनिक भास्कर हिंदी: Royal Enfield Himalayan का शानदार Trike मोडिफिकेशन

August 6th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अपने सेगमेंट में Royal Enfield Himalayan सबसे वर्सटाइल मोटरसाइकिल्स में से एक है। अपने मल्टी-पर्पस डिजाइन के लिए इस एडवेंचर बाइक के कई चाहने वाले हैं। हम ले कर आये हैं Himalayan पर बेस्ड एक शानदार मोडिफिकेशन और हमारा दावा है की आपने इससे पहले ऐसा कुछ भी कभी भी नहीं देखा होगा। जो वीडियो हम आपको दिखाने जा रहे हैं वो Motoslug नाम के यू-ट्यूब चैनल का है... हाल ही में Motoslug गोवा में एक Royal Enfield कैफे में ये वीडियो शूट किया। तो देखिए Royal Enfield Himalayan का बेहद काबिल-ए-तारीफ trike वर्जन का वीडियो।

Himalayan पर Royal Enfield द्वारा कमीशन किया गया ये एक ऑफिशियल मोडिफिकेशन है और हाल में इनऔग्युरेट हुए Royal Enfield Cafe गोवा में डिस्प्ले पर है। बाइक के बगल में रखे इनफार्मेशन कार्ड के मुताबिक Himalayan को इस तरह मॉडिफाई करने का आईडिया शुरू हुआ था एक सवाल के साथ, की Himalayan गोवा में कैसी होगी।

मॉडिफाइड Trike को पहले शोकेस किया गया था 2017 इंडिया बाइक वीक में।  बाइक को नाम दिया गया है The Rooster Trike, ये स्टॉक Himalayan से काफी अलग दिखती है और इसे कई अपडेट और बदलाव दिए गए हैं। मोडिफिकेशन मोटरसाइकिल को देता है एक पूरी तरह मॉडिफाइड रियर। चॉप्ड रियर को अब रिप्लेस किया गया है एक डिफरेंशियल के साथ जिसमें बैक पर हैं एक सेट नौब्ली टायर्स। ज्यादा चौड़े व्हील्स वेट को ज्यादा बड़े एरिया में डिस्ट्रीब्यूट करेंगे जिससे Rooster Trike बीच सैंड पर स्टॉक बाइक से ज्यादा कामयाब होगी। रियर डिफरेंशियल के एडिशन के साथ, मोटरसाइकिल ने गेन किया है काफी वजन और इसे रिवर्स करने में मदद करने के लिए मोडिफायर्स ने एक रिवर्स गियर भी ऐड किया है।

बाइक को अपसाइड डाउन फ्रंट फोर्क, गोवा के म्यूजिकल अम्बिएंस से मेल खाने वाले स्पीकर्स, और नए ड्यूल पौड हेडलैम्प्स जैसे दूसरे मोडिफिकेशन भी दिए गए हैं। Rooster नाम आता है रूस्टर टायर मार्क्स से। बाइक को कई कस्टमाइज्ड पार्ट्स दिए गए हैं जैसे की हेडलैम्प के ऊपर वाइजर, कस्टमाइज्ड टैन लेदर सीट, चॉप्ड फ्रंट फेंडर, रैप्ड कस्टमाइज्ड एग्जॉस्ट और टैंक पर बने रूस्टर के साथ कस्टम पेंट। मॉडिफाइड बाइक पर अब सिर्फ एक सवारी बैठ सकती है।

ये मोडिफिकेशन रोड-लीगल नहीं है। गाड़ी के स्ट्रक्चर में किये गए कोई भी बदलाव, या गाड़ी के परफॉरमेंस को प्रभावित करने वाले कोई भी मोडिफिकेशन गाड़ी के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट पर ARAI से पास करवाने के बाद एंडोर्स होने चाहिए। लेकिन ये मोटरसाइकिल प्राइवेट प्रॉपर्टी वाले लोगों या ट्रैक के मालिकों के लिए परफेक्ट राइड हो सकती है। ये एक ऐसी गाड़ी है जिसके लिए इंडिया में लोग अफसोस करेंगे की काश कानून थोड़े फ्लेक्सिबल होते। मसलन, अमेरिका के कई स्टेट्स में इस तरह का trike वर्जन सभी सड़कों पर पूरी तरह लीगल होगा। जबकि इंडिया में, Royal Enfield जैसी कंपनी को भी ARAI अप्रूवल के झंझट से गुजरना तंग करेगा।