दैनिक भास्कर हिंदी: Coronavirus: पहले भी चीन में फैला था ऐसा ही वायरस, लोगों को बचाने भारतीय डॉक्टर ने दी अपनी जान

February 1st, 2020

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। अपने बेहतरीन इनोवेशन, इकोनॉमिक पावर और चीन की दीवार के लिए फेमस चाइना... इस समय एक वायरस की वजह से सुर्खियों में बना हुआ है। इस वायरस का नाम है कोरोना वायरस, जिसने दुनियाभर में तहलका मचा रखा है। यह वायरस चीन से निकलकर भारत, सिंगापुर, मलयेशिया और अमेरिका तक पहुंच चुका है। इस वायरस की वजह से हजारों लोग संक्रमण का शिकार हो गए हैं। कई लोगों की जान जा चुकी है। लेकिन ऐसा पहली बार नहीं है कि चीन में इस तरह के किसी वायरस ने कब्जा किया हो। इसके पहले भी साल 1938 में चीन में इसी तरह का एक वायरस फैल चुका है। कोई दवाएं काम नही कर रही थी, फिर हिंदुस्तान से डॉक्टर कोटनिस वहां गए और उन्होंने उस वक्त उस वायरस को अपने शरीर मे इंजेक्ट कर के उसकी दवा तैयार की थी। यह दवा बहुत ज्यादा कारगर साबित हुई थी। परंतु वो खुद अपने आप को नही बचा सके और 1942 में इस दुनिया को अलविदा कह गए। 

यह भी पढ़े:  एक ऐसा वायरस जिसकी नहीं कोई पहचान, केवल सावधानी ही है एकमात्र उपाय

 

डॉक्टर कोटनिस की अमर कहानी और कंटेजियन फिल्म:

 

 

Media Source: Shemaroo Filmi Gaane & YBT TV

खबरें और भी हैं...