दैनिक भास्कर हिंदी: एयर इंडिया के सीनियर कैप्टन सस्पेंड, सिडनी एयरपोर्ट पर शॉप लिफ्टिंग का आरोप

June 24th, 2019

हाईलाइट

  • AI के एक सीनियर कैप्टन को शॉप लिफ्टिंग के आरोप में निलंबित कर दिया गया
  • सिडनी एयरपोर्ट पर ड्यूटी फ्री शॉप से उन्होंने शनिवार को शॉप लिफ्टिंग की थी
  • दिल्ली पहुंचने पर शिकायत मिलने के बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। एयर इंडिया के एक सीनियर कैप्टन को सिडनी एयरपोर्ट पर ड्यूटी फ्री शॉप से शनिवार को शॉप लिफ्टिंग (बिना कीमत चुकाए सामान उठाने) के आरोप में निलंबित कर दिया गया है। इससे पहले कि वह दिल्ली के लिए फ्लाइट लेकर रवाना होते उनके पास फोन आया कि वह दादा बन गए हैं और वह दुकान से गिफ्ट लेने चले गए। सिडनी से दिल्ली पहुंचने पर शिकायत के बाद उन्हें सस्पेंड कर दिया गया।

एयर इंडिया की डायरेक्टर (कार्मिक) अमृता शरण की ओर से जारी निलंबन आदेश में कहा गया है: 'क्षेत्रीय प्रबंधक आस्ट्रेलिया ने बताया है कि आपने 22 जून को फ्लाइट AI 301 के डिपार्चर से पहले सिडनी एयरपोर्ट पर एक ड्यूटी फ्री शॉप से बिना पैसे चुकाए सामान लिया था। इस फ्लाइट के आप कमांडर भी थे। इस कृत्य के लिए आपको तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है।'

AI के चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने इस मामले पर बहुत सख्त रुख अपनाया है। मामले का पता चलते ही उन्होंने कार्रवाई का आदेश दिया। सस्पेंड हुए पायलट पूर्वी क्षेत्र के रीजनल डायरेक्टर भी थे। उन्हें इस पद से भी हटा दिया गया है।

AI के प्रवक्ता धनंजय कुमार ने कहा: 'AI अपने कर्मचारियों के उचित आचरण पर सबसे अधिक ध्यान देता है और किसी भी तरह की अनियमितता पर जीरी टॉलरेंस की पॉलिसी अपनाता है। एयर इंडिया के एक कैप्टन रोहित भसीन पर आरोप लगा है कि उन्होंने सिडनी में एक ड्यूटी फ्री शॉप से बिना पैसे चुकाए एक पर्स लिया है। AI ने इस घटना की जांच शुरू कर दी है और कप्तान को निलंबित कर दिया है।'

पायलट ने एयर इंडिया को बताया कि वह दादा बनने की खबर मिलने पर अपनी बहू के लिए गिफ्ट लेने गया था। उन्होंने अपनी बहु के लिए कुछ सामान उठाया और देरी होने के कारण जल्दबाजी में बिना भुगतान किए फ्लाइट में लौट गए। जब उन्हें ये याद आया कि उन्होंने इस सामान का भुगतान नहीं किया है तब तक काफी दे हो चुकी थी। दुकान के मैनेजर को कारण बताने का समय नहीं था और तुरंत विमान उड़ाना था।

निलंबन आदेश में पायलट के लिए कई शर्तें भी है: 'आप प्रबंधन की लिखित अनुमति के बिना एयर इंडिया के परिसर में प्रवेश नहीं करेंगे। आप प्रबंधन की लिखित अनुमति के बिना अपना स्टेशन (कोलकाता) नहीं छोड़ेंगे। आप अपने आप को किसी भी रोजगार या विमानन में संलग्न नहीं करेंगे। आप अपने पायलट-इन-कमांड / कंपनी पहचान पत्र को क्षेत्रीय सुरक्षा प्रमुख, एयर इंडिया, कोलकाता को सौंप देंगे। निर्वाह भत्ते के अलावा आपको कोई भुगतान नहीं किया जाएगा।'