स्टील उत्पादन: अमेरिकन प्रीकोट स्टील प्लांट ने दिया स्वदेशी EG स्टील का उपहार

January 5th, 2022

हाईलाइट

  • जिंक के मिश्रण से खास तरह का स्टील तैयार होगा
  • पड़ोसी देशों को यह स्टील एक्सपोर्ट भी किया जा सकेगा
  • कल पुर्जे और इंजन के निर्माण में उपयोग किया जाता है

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अमेरिकी प्रीकोट ने नॉएडा से अपनी कंपनी की शुरुआत की और आज दुनियाभर में अपना परचम लहरा रही है, जिसका मुख्यालय नॉएडा में ही स्थित है। इसके साथ ही अमेरिकन प्रिकॉट के वलसाड स्टील प्लांट में EG (एलक्ट्रो गलवानाइज्ड) स्टील उत्पादन प्रारंभ होने के साथ ही भारतीय ऑटोमोबाईल इंडस्ट्री ने तरक्की के एक नए दौर में कदम रखा है। तरक्की का ये नया आर्थिक द्वार अमेरिकी कंपनी अमेरिकन प्रिकॉट स्पेशलिटी प्रालि. ने खोला है जिसने गुजरात के वलसाड में अपने स्टील प्लांट में EG स्टील का उत्पादन शुरू कर दिया है। 

इस प्लांट में एलक्ट्रो गलवानाईज्ड विधि से जिंक के मिश्रण से खास तरह का स्टील तैयार किया जा रहा है, जो सौ फीसदी जंगरोधी होता है। जिसका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर ऑटो मोबाईल इंडस्ट्री में खास तरह के कल पुर्जे और इंजन के निर्माण में किया जाता है।

भारत में मामाअर्थ की पैरेंट कंपनी होने से को मिला 2022 का पहला यूनिकॉर्न 

फिलहाल ऑटोमोबाईल इंडस्ट्री में कल पुर्जे व इंजन बनाने के लिए एल्क्ट्रो गलवानाईज्ड स्टील चीन, ताइवान और दक्षिण कोरिया से आयात किया जाता है जिसके लिए करोड़ों डॉलर देश को खर्च करने पड़ते हैं। नॉएडा मुख्यालय स्थित अमेरिकन प्रिकॉट कंपनी केवल साडयूनिटका यह स्टील प्लांट अब देश की तमाम ऑटोमोबाईल इंडस्ट्री के साथ ही अन्य उद्योगों के लिए भी एलक्ट्रो गलवानाइज्ड यानि विद्युत जस्तिकरण विधि से उच्च गुणवत्ता का स्टील मुहैया करेगा। 

यह अपने आप में इन उद्योगों के लिए एक बड़ा आकर्षण है। इससे न केवल हम आत्मनिर्भर होंगे, बल्कि विदेशी मुद्रा की भी बड़ी मात्रा में बचत होगी। वलसाड में इस स्टील प्लांट में EG स्टील उत्पादन शुरू होने से चीन, ताइवान व दक्षिण कोरिया से मंहगा स्टील खरीदने की बजाय आने वाले समय में न केवल हम अपनी जरूरतें पूरी कर पाएंगे बल्कि पड़ोसी देशों को यह स्टील एक्सपोर्ट भी किया जा सकेगा। 

इससे जहां एक तरफ करोड़ों डॉलर का खर्च बचेगा वहीं विदेशी मुद्रा कमाई भी जा सकेगी। भारत को आत्मनिर्भर बनाने की ओर यह पहला कदम है। साथ ही प्रधानमंत्री मोदी जी की खास मुहिम मेक इन इंडिया की परिपाटी को आगे बढ़ाते हुए अमेरिकन प्रिकॉट प्रा.लि. देश के ऑटोमोटिव इंडस्ट्री की एलक्ट्रो गलवानाइज्ड की जरूरतों को पूरा करने में पूरी तरह सक्षम है। 

वाहन ईंधन दाम: पेट्रोल और डीजल की कीमतें घटी या बढ़ीं, यहां जानें आज के दाम

मीडिया से रूबरू अमेरिकन प्रिकॉट स्पैशलिटी प्रालि. के प्रोमोटर एंड चीफ टेकनिकल आर्किटेक्ट डॉ. शुभ गौतम ने कहा कि अमेरिकन प्रिकॉट भारत में आयातित ऑटो-मोटिव स्टील का एक पूर्ण विकल्प बनाता है। अमेरिकन प्रिकॉट देश के खजाने से स्टील आयात पर हर साल खर्च हो रहे लाखों डॉलर बचाने में मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने देश को इस्पात उद्योग में आत्मनिर्भर बनाने की आवश्यकताओं पर बोलते हुए कहा की हम जो कर रहे हैं वह देश में मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने का एक शानदार उदाहरण है। 

शुभ गौतम ने कहा कि हम देश के औटोमोबाईल निर्माण उद्योग के लिए एक लॉंग टर्म विज़न लेकर आए हैं। उन्होंने बताया कि अमेरिकन प्रिकॉट कंपनी दुनिया भर के अपने ग्राहकों को उच्च गुणवत्ता वाला खास स्टील, पॉलिमर युक्त अलॉय व कॉइल कोटिंग्स सहित विशेष कोटिंग और अन्य तरह के उत्पाद मुहैया करती है।