कॉर्पोरेट पहचान : अब विशेष रूप से वेदांत के स्वामित्व में ब्रांड केयर्न

November 6th, 2021

हाईलाइट

  • वेदांता लिमिटेड ब्रांड नाम केयर्न का उपयोग बंद करेगी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली । वेदांता लिमिटेड (केयर्न ऑयल एंड गैस बिजनेस) ने दोहराया है कि वह एक अलग इकाई है जिसका केयर्न एनर्जी पीएलसी से कोई संबंध नहीं है। केयर्न एनर्जी पीएलसी, स्कॉटिश तेल और गैस अन्वेषण कंपनी जिसे आमतौर पर केयर्न एनर्जी के रूप में भी जाना जाता है। दिसंबर 2021 तक अपनी कॉर्पोरेट पहचान के हिस्से के रूप में ब्रांड नाम केयर्न का उपयोग बंद कर देगी।

3 नवंबर को एक नियामक बयान में केयर्न ने कहा कि उसकी 13 दिसंबर, 2021 से प्रभावी कंपनी का नाम केयर्न एनर्जी पीएलसी से मकर एनर्जी पीएलसी में बदलने की है। यह केयर्न इंडिया आईपीओ के समय एक समझौते का पालन करता है कि नाम अंतत: बदल दिया जाएगा। भारत में हालिया विधायी परिवर्तन और संबंधित कर वापसी प्रक्रिया में हमारी भागीदारी को देखते हुए।अब हम योजनाबद्ध नाम परिवर्तन कर रहे हैं। वेदांत के अनुसार ब्रांड केयर्न विशेष रूप से इसके स्वामित्व में है।

परिवर्तन पर चर्चा करते हुए वेदांता के सीईओ सुनील दुग्गल ने कहा जब केयर्न एनर्जी पीएलसी ने वेदांत समूह को अपनी हिस्सेदारी बेचने के बाद 2011 में अपने भारतीय परिचालन से बाहर कर दिया तो उसने ब्रांड नाम केयर्न का उपयोग करना जारी रखा। हालांकि ब्रांड केयर्न का स्वामित्व वेदांत लिमिटेड के पास है। तत्कालीन केयर्न इंडिया लिमिटेड वेदांत में तब से हमने कंपनी में बड़े पैमाने पर निवेश किया है और देशभर में अपने पदचिह्न् का विस्तार किया है।

 

(आईएएनएस)