दैनिक भास्कर हिंदी: Fuel Price: आज फिर लगी पेट्रोल-डीजल की कीमतों में आग, जानें कितना हुआ महंगा

January 19th, 2021

हाईलाइट

  • पेट्रोल की कीमत में 25 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई
  • डीजल की कीमत में भी 25 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल (Crude oil) कीमतों में गिरावट का दौर जारी है, लेकिन घरेलू बाजार में इसका कोई असर नजर नहीं आ रहा है।  भारतीय तेल विपणन कंपनियों (IOC, HPCL & BPCL) ने आज (मंगलवार, 19 जनवरी) फिर पेट्रोल-डीजल (Petrol- Diesel) की कीमतों में बढ़ोतरी कर दी है। पेट्रोल और डीजल की कीमत में 25-25 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई है।  

बता दें कि इससे दो दिन पहले तीन दिनों तक लगातार पेट्रोल-डीजल की कीमतों में शांति थी। लेकिन एक बार फिर इसमें बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। देखा जाए तो जनवरी माह में पेट्रोल के दाम अब तक 1.49 रुपए और डीजल के रेट 1.51 रुपए प्रति लीटर तक बढ़ चुके हैं। 

पहली बार 75.8 करोड़ डॉलर बढ़ा देश का विदेशी मुद्रा भंडार

पेट्रोल की कीमत
इंडियन ऑयल (Indian Oil) की वेबसाइट के अनुसार आज देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 85.20 रुपए प्रति लीटर है। वहीं आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल 91.80 रुपए प्रति लीटर मिल रहा है। बात करें कोलकाता की तो यहां एक लीटर पेट्रोल के लिए आपको 86.63 रुपए चुकाना होंगे। जबकि चैन्नई में पेट्रोल 87.85 रुपए प्रति लीटर में उपलब्ध होगा।

डीजल की कीमत
दिल्ली में डीजल की कीमत 75.38 रुपए प्रति लीटर हो गई है। वहीं मुंबई में डीजल 82.13 रुपए प्रति लीटर बेचा जा रहा है। कोलकाता में आपको एक लीटर डीजल 78.97 रुपए में उपलब्ध होगा। जबकि चैन्नई में एक लीटर डीजल के लिए आपको 80.67 रुपए चुकाना होंगे।

साल का दूसरा आईपीओ 20 जनवरी को खुलेगा 

ऐसे तय होती है कीमत
विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमतें क्या हैं, इस आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। इन्हीं मानकों के आधार पर पर ऑयल मार्केटिंग कंपनियां (OMC) पेट्रोल रेट और डीजल रेट रोज तय करती हैं। इंडियन ऑयल (Indian Oil), भारत पेट्रोलियम (Bharat Petroleum) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम (Hindustan Petroleum) हर रोज सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में एक्साइज ड्यूटी, डीलर का कमीशन और अन्य चीजों को जोड़ने के बाद तेल का दाम दोगुना तक बढ़ जाता है। 

इसके अलावा बात करें राज्यों में अलग- अलग कीमतों की तो प्रत्येक राज्य पेट्रोल व डीजल पर अलग-अलग स्थानीय बिक्री कर अथवा मूल्य वर्धित कर (VAT) लगाते हैं। इस कारण उपभोक्ताओं के लिए राज्यों के हिसाब से डीजल और पेट्रोल की दरें बदल जाती हैं।