दैनिक भास्कर हिंदी: Fuel Price: जानें महीने के आखिरी दिन क्या हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें

April 30th, 2020

हाईलाइट

  • कच्चे तेल की कीमतों में देखी जा रही भारी गिरावट
  • पेट्रोल डीजल की कीमत लगातार 49 दिनों से स्थिर
  • कीमतों में आखिरी बार 16 मार्च को हुआ था बदलाव

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। लॉकडाउन के चलते पेट्रोल-डीजल की मांग में लगातार कमी देखी जा रही है। कोरोनावायरस के चलते दुनियाभर कई देशों में लॉकडाउन है। ऐसे में  अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भी कच्चे तेल की मांग घटी है, उसकी कीमत भी काफी कम है। हालांकि इसका असर घरेलू बाजार में दिखाई नहीं दे रहा है। यहां लगातार 49वें दिन पेट्रोल डीजल के दाम स्थिर बने हुए हैं। बता दें कि आखिरी बार 16 मार्च को पेट्रोल डीजल के दाम में बदलाव हुआ था। वहीं अप्रैल की शुरुआत में इक्का दुक्का शहरों में दाम बदले गए थे, जिसका कारण मांग की कमी नहीं बल्कि वैट था।

बात करें आज (गुरूवार, 30 अप्रैल) की तो भारतीय तेल विपणन कंपनियों ने पेट्रोल- डीजल की कीमत में कोई बदलाव नहीं किया है। जानकारों का मानना है कि इस बार एक्साइज बढ़ने से दाम बढ़ने की गुंजाइश नहीं दिख रही। ऐसे में उम्मीद की जा रही है, कि लॉकडाउन के बाद पेट्रोल डीजल के दाम में भारी बढ़ोतरी नहीं होगी। फिलहाल जानते हैं आज की कीमत...

स्पाइसजेट के पायलटों को नहीं मिलेगी अप्रैल और मई की सैलरी

पेट्रोल- डीजल की कीमत
इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार आज देश की राजधानी दिल्ली सहित आर्थिक राजधानी मुंबई और महानगर कोलकाता व चैन्नई में पेट्रोल डीजल के दाम स्थिर बने हुए हैं। इनकी कीमत इस प्रकार हैं:-  

महानगर

पेट्रोल      

डीजल

दिल्ली 

69.59 रुपए प्रति लीटर

62.29 रुपए प्रति लीटर

मुंबई

76.31 रुपए प्रति लीटर

66.21 रुपए प्रति लीटर

कोलकाता 

73.30 रुपए प्रति लीटर

65.62 रुपए प्रति लीटर

चैन्नई

72.28 रुपए प्रति लीटर

65.71 रुपए प्रति लीटर

ऐसे तय होती है कीमत
विदेशी मुद्रा दरों के साथ अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड की कीमतें क्या हैं, इस आधार पर रोज पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बदलाव होता है। इन्हीं मानकों के आधार पर पर ऑयल मार्केटिंग कंपनियां पेट्रोल रेट और डीजल रेट रोज तय करती हैं। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम हर रोज सुबह 6 बजे पेट्रोल और डीजल की दरों में संशोधन कर जारी करती हैं।

इस शहर के लोगों को नहीं जाना होगा बैंक या ATM, सीधे घर तक पहुंचेगा Cash

पेट्रोल व डीजल के दाम में कीमत में एक्साइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद इसका दाम लगभग दोगुना हो जाता है। इसके अलावा डीलरशिप का असर भी पेट्रोल डीजल की कीमत पर होता है। दरअसल, डीलर पेट्रोल पंप चलाने वाले लोग हैं। वे खुद को खुदरा कीमतों पर उपभोक्ताओं के अंत में करों और अपने स्वयं के मार्जिन जोड़ने के बाद पेट्रोल बेचते हैं। पेट्रोल रेट और डीजल रेट में यह कीमत भी जुड़ती है।