दैनिक भास्कर हिंदी: पुणे और अकोला में एसीबी का शिकंजा : अलग-अलग मामलों में फंसे तीन रिश्वतखोर, आरोपियों में हवलदार शामिल

April 25th, 2019

डिजिटल डेस्क, अकोला। वाशिम में गिट्टी और मुरम की ट्रैक्टर से ढुलाई शुरु रखने के लिए पुलिस के नाम से 10 हज़ार रुपए की रिश्वत मांगनेवाले शख्स को एन्टी करप्शन ब्यूरो ने गिरफ्तार कर लिया। एन्टी करप्शन ब्यूरो के पुलिस निरीक्षक ए. पी. इंगोले ने बताया कि ग्राम जयपुर निवासी 47 वर्षीय आरोपी गिरजाराव धोंडबाराव मस्के ने शिकायतकर्ता का ट्रैक्टर 25 दिसम्बर 2018 को गिट्टी की ढुलाई करते समय पकड़ा था। जमादार पत्रे ने शिकायतकर्ता से गिट्टी की रायल्टी और ट्रैक्टर नम्बर न होने के कारण ट्रैक्टर शुरु रखने के ऐवज में 30 हज़ार रुपए की मांग की, जो राशि गिरजाराव धोंडबाराव मस्के को देने के लिए कहा। इसी दौरान शिकायतकर्ता का भाई रायल्टी की रसीद लेकर आया। इसके बाद जमादार पत्रे ने ग्राम जयपुर निवासी गिरजाराव मस्के को बुलाया, उसके मार्फत समझौता करवाकर 15 हज़ार रुपए की रिश्वत देने की बात तय की। शिकायत पर एन्टी करप्शन ब्यूरो के दल ने 10 हज़ार रुपए की रिश्वत की शिकायत सही पाई। जिसके बाद एसीबी ने आरोपी गिरजाराव मस्के को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ भ्रष्टाचार प्रतिबंधक कानून के तहत अपराध दर्ज किया। 

पांच हजार की रिश्वत लेते पुलिस हवलदार गिरफ्तार

उधर पुणे में स्क्रैप का व्यवसाय कर रहीं महिला पर कार्रवाई न करने के लिए 5 हजार रूपए की रिश्वत लेने के मामले में एन्टी करप्शन ब्युरो ने पुलिस हवलदार और एक शख्स को गिरफ्तार किया है। कार्रवाई गुरूवार को की गई। सूत्रों के मुताबिक वानवड़ी पुलिस थाने में कार्यरत पुलिस हवलदार निसार मेहमुद खान (44) और मेहंदी अजगर शेख (32) नामक शख्स को गिरफ्तार किया गया। दोनों के खिलाफ एक महिला ने शिकायत दर्ज कराई हैं। शिकायतकर्ता महिला हड़पसर इलाके में स्क्रैप का व्यवसाय करती हैं। चोरी का माल खरीदी करने का आरोप लगा पुलिस हवलदार खान ने कार्रवाई न करने के लिए 15 हजार रूपयों की रिश्वत मांगी। चर्चा कर 5 हजार रूपए देने का तय हुआ। उसके बाद महिला ने खान के खिलाफ शिकायत दी। शिकायत के अनुसार पुलिस ने जाल बिछाया। खान ने मेहंदी शेख को रूपये लेने के लिए कहा। तभी पुलस ने शेख को महिला से पांच हजार रूपए लंते रंगेहाथ गिरफ्तार किया। उसके बाद पुलिस हवलदार खान काे भी गिरफ्तार किया गया।  
 

खबरें और भी हैं...