घटिया कांक्रीट सड़कों का मामला: डेढ़ साल बाद मिली रिपोर्ट में मरम्मत का सुझाव, मनपा ने सलाह के लिए फूंके 11 लाख

March 16th, 2022

डिजिटल डेस्क, अकोला। महानगरपालिका अंतर्गत बनी घटिया स्तर की कांक्रीट सड़कों का मुद्दा तत्कालीन जिलाधिकारी द्वारा कराए गए सोशल आडिट की वजह से सन 2018 में गूंजा था। इस मामले में दोषी अधिकारी, ठेकेदारों के खिलाफ कार्रवाई की मांग सभी स्तरों से उठी, लेकिन महानगरपालिका ने वीएनआईटी से सड़कों की जांच कराने का निर्णय लिया। पश्चात वीएनआईटी ने जुलाई 2020 में सैम्पल लिए, जिसकी रिपोर्ट डेढ़ साल बाद महानगरपालिका को भेजी गई, लेकिन इस रिपोर्ट में सिर्फ सड़कों की मरम्मत का सुझाव दिया गया ऐसी जानकारी अधिकारियों से प्राप्त हुई है। अब सवाल यह उपस्थित हुआ है कि महानगरपालिका वीएनआईटी को 11 लाख रूपए क्या सिर्फ मरम्मत की सलाह पाने के लिए दिए थे? गौर किया जाए तो तत्कालीन जिलाधिकारी के दौर में हुए सोशल आडिट की जांच रिपोर्ट में प्रयोगशालाओं ने स्पष्ट तौर पर कॉम्प्रेसिव स्ट्रेंथ मानक से काफी कम होने याने घटिया स्तर का निर्माण होने की बात स्पष्ट की थी।