अनियमित आपूर्ति: ग्रीष्मकाल में पेयजल समस्या से जूझ रहे अकोलावासी

May 5th, 2022

डिजिटल डेस्क, अकोला। महानगरपालिका क्षेत्र में विगत एक माह से जलापूर्ति का नियोजन पूरी तरह गड़बड़ा गया है। अनियमित तथा चार से पांच दिनों के अंतराल से जलापूर्ति हो रही है, जिससे नागरिकों को ग्रीष्मकाल में पानी के लिए भटकना पड़ रहा है। अब कुछ दिनों से मटमैले पानी की आपूर्ति की जा रही है, जिससे पेयजल के लिए नागरिकों को पानी खरीदना पड़ रहा है। इस समस्या के बीच फिर से तकनीकी कारणों से शहर में जलापूर्ति बंद रखी जा रही है। 

5 मई को संपूर्ण जलापूर्ति बंद

महान जलशुध्दीकरण केंद्र में रखरखाव के काम किए जा रहे है, जिससे 5 मई को संपूर्ण शहर की जलापूर्ति बंद रखने का निर्णय जलप्रदाय विभाग ने लिया है। वहीं अकोला शहर में पेयजल की नियमित व दैनिक जलापूर्ति हो सके इसलिए जलशुध्दीकरण केंद्र पर चौथा पंप शुरू किया जाएगा। इस कार्य में तकनीकी दिक्कत निर्माण होने से शहर में दो से तीन दिन के लिए जलापूर्ति प्रभावित रह सकती है, ऐसी जानकारी जलप्रदाय विभाग के कार्यकारी अभियंता एच. जी. ताठे ने दी है।

पानी का स्वाद बदला

अकोला शहर में पिछले 15 दिनों से मटमैले पानी की आपूर्ति हो रही है। अब पानी के स्वाद में भी बदलाव आया है, जिससे स्वास्थ्य की चिंता नागरिकों को सताने लगी है। पानी का पीला रंग और स्वाद में बदलाव से ग्रीष्मकाल में नागरिकों की परेशानी बढ़ गई है।