अकोला: 25 को राष्ट्रीय पिछड़ा ओबीसी मोर्चा का भारत बंद आंदोलन

May 22nd, 2022

डिजिटल डेस्क, अकोला। राष्ट्रीय पिछडा ओबीसी मोर्चा की ओरसे ओबीसी की जातीनिहाय जनगणना होनी चाहीए, पुरानी पेन्शन स्कीम शुरु हो, ईव्हीएम बंद हो, निजी क्षेत्र में एससी, एसटी, ओबीसी आरक्षण लागू हो, वर्तमान श्रम कानून रद्द हो, एनआरसी, एनपीआर, सीएए रद्द हो, एमएसपी गॅरंटी कानून आदि मांग एवं अधिकार के लिए राष्ट्रीय पिछडा वर्ग मोर्चा एवं संलग्न संगठनों की ओरसे देशव्यापी भारत बंद का आयोजन किया गया है। बुधवार 25 मई को राष्ट्रीय पिछडा वर्ग मोर्चा, राष्ट्रीय परिवर्तन मोर्चा, भारत मुक्ति मोर्चा, बहुजन क्रांति मोर्चा की ओरसे विविध मांगों को लेकर भारत बंद का आयोजन किया गया है। जिले के समस्त कामगार, ओबीसी समाज बांधव एवं संगठन के कार्यकर्ता वर्ग ने इस देशव्यापी बंद में समिल्लीत होने का आवाहन राष्ट्रीय पिछडावर्ग मोर्चा राज्य सदस्य गजानन दोड, राष्ट्रीय पिछडावर्ग मोर्चा जिलाध्यक्ष बालासाहब पाथरीकर, बहुजन क्रांति मोर्चा जिला संयोजक  योगेश जायले, छत्रपति क्रांति सेना विदर्भ प्रमुख स्वप्नील कुलट, बुद्धिस्ट इंटरनेशनल नेटवर्क विदर्भ प्रमुख मुरलीधर पखाले, राष्ट्रीय मुस्लिम मोर्चा जिलाध्यक्ष शाहिद इक्बाल, राष्ट्रीय गुरु रविदास क्रांति मोर्चा जिलाध्यक्ष सूर्यभान उंबरकर, बहुजन मुक्ति जिलाध्यक्ष राहुल इंगले, भारतीय बेरोजगार मोर्चा राज्याध्यक्ष संदेश कांबले, बहुजन मुक्ति पार्टी लोकसभा प्रभारी प्रविणा भटकर,  राष्ट्रीय मूलनिवासी महिला संघ जिलाध्यक्ष वंदना अवचार, आदिवासी एकता परिषद राष्ट्रीय महासचिव राम ढिगर, राष्ट्रीय आदिवासी छात्रसंघ मीडिया प्रभारी राजू साकोम, बहुजन मुक्ति के पंकज ठाकरे, भारत मुक्ति मोर्चा के राज्य सदस्य श्याम अवचार, बहुजन मुक्ति युवा अध्यक्ष प्रशांत उपर्वट, भारतीय विद्यार्थी मोर्चा रोहित तिडके, राष्ट्रीय किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष नाजुकराव अगमे, राष्ट्रीय मूलनिवासी बहुजन कर्मचारी संघ असंघटीत बांधकाम कामगार शाखा के राज्य सदस्य बाबाराव साखरे आदि ने किया।