शुरु: अकोट रेल स्टेशन पर डेढ़ बजे पहुंची डेमो ट्रेन

November 24th, 2022

डिजिटल डेस्क, अकोट| गांधीग्राम का पुल बंद होने से यात्रियों को हो रही परेशानी के मद्देनजर रेल प्रशासन ने अंतत: आज  बुधवार से अकोला से अकोट डेमो रेल शुरू की है। अकोला से निकली यह ट्रेन दोपहर डेढ़ बजे पहुंची। ट्रेन पहुंचते ही अकोट शहर समेत तहसील के यात्रियों ने इस ट्रेन का स्वागत किया। वहीं भाजपा के पदाधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे। स्वागत के पश्चात दोपहर दो बजे यह ट्रेन फिर से यात्रियों को लेकर अकोला की ओर रवाना हुई। अकोला से अकोट और अकोट से अकोला इस रेल मार्ग पर डेमो ट्रेन क्रमांक 07718 बुधवार को शुरू हुई। आनलाइन तरीके से इस ट्रेन को केंद्रीय रेल राज्यमंत्री रावसाहब दानवे, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणविस ने रिमोट लिंके माध्यम से हरी झंडी दिखाई। अकोला से रवाना हुई यह ट्रेन दोपहर डेढ़ बजे अकोट रेल स्टेशन पर पहुंच गई। यहां पर ट्रेन का ढोल ताशे बजाकर और पटाकों की आतषबाजी कर स्वागत किया गया। इस अवसर पर अकोट शहर तथा तहसील के यात्रियों की बड़ी संख्या में उपस्थिति थी। वहीं विधायक प्रकाश भारसाकले, भाजपा नेते तेजराव थोरात, गजानन लोणकर,  पूर्व नगराध्यक्ष हरिनारायण माकोडे, नगराध्यक्ष कनक कोटक, युवा नेते राजेश चंदन, सुहास वाघ,अनिरुद्ध देशपांडे, पार्षद और  महिला पदाधिकारी आदि ने रेल तथा रेल के अधिकारियों का स्वागत किया। स्वागत को स्वीकार करने के बाद यह ट्रेन यात्रियों को लेकर दोपहर दो बजे अकोला की ओर रवाना हुई। आज पहले ही दिन लगभग 400 टिकटों की बिक्री हुई, ऐसी जानकारी मिली है।

24 नवंबर से समय पर सेवा

आकोट रेल स्टेशन से यह रेल सेवा २०१७ से बंद हो गई थी। अब फिर एक बार अकोट से अकोला रेल मार्ग पर यह सेवा शुरू हो गई है। आज पहला दिन होने से कुछ कारणवश रेल  सेवा शुरू होने में देरी हुई है। लेकिन 24 नवंबर से यह सेवा अपने निर्धारित समय पर नियमित रूप से जारी रहेगी, ऐसी जानकारी सामने आई है। यह रेल सुबह 7 बजे अकोला से निकलेगी और 8.20 बजे अकोट में पहुंचेगी। वहां से 9 बजे रवाना होकर अकोला में 10.20 बजे पहुंचेगी। बाद में शाम 6 बजे यह ट्रेन अकोला से रवाना होगी और 7.20 बजे आकोट में पहुंचेगी। बाद  में रात 8 बजे से अकोट से रवाना होकर 9.20 बजे ट्रेन अकोला में पहुंचेगी। अकोट तहसील की जनता की समस्या को ध्यान में लेते हुए मीडिया ने इस मुद्देपर कई बार सकार का ध्यान खींच लिया। अकोट के समाजसेवी प्रा. विजय जीतकर ने भी अपने तरीके से प्रयास किए। अकोट तथा तहसील की जनता ने भी प्रत्यक्ष- अप्रत्यक्ष रूप से इस मांग को अपना समर्थन दिया। अंतत: सभी की मेहनत का नतीजा यह निकला की रेल शुरू हो गई। 
अकोट-खंडवा रेल मार्ग शुरू हो

अकोला से अकोट रेल मार्ग पर ट्रेन शुरू की गई है। यह ट्रेन शुरू करने के लिए जिन जिन लोगों ने प्रयास किए उन सबके आभार। लेकिन अब अकोट से खंडवा रेल शुरू करने के लिए इसी तरह एकजुट होकर प्रयास करना आवश्यक है। 

एड़ संजय पाठक,अध्यक्ष अकोट तहसील ग्राहक पंचायत