अकोला: हत्या-मकोका का फरार आरोपी 6 वर्षों बाद अमरावती से गिरफ्तार

January 10th, 2022

डिजिटल डेस्क, अकोला। अकोट फैल में घटित हत्या तथा मकोका में नामजद एक आरोपी घटना के बाद से फरार हो गया था। आरोपी अपना नाम बदलकर विगत 6 वर्षों से फरार चल रहा था। पुलिस अधीक्षक जी श्रीधर के मार्गदर्शन में कार्यान्वित फरार, पाहिजे के विशेष दल को गुप्त जानकारी मिली है कि आरोपी अमरावती जिले के करजगांव में छिपा हुआ है। इस जानकारी के आधार पर दल ने छापामार कार्रवाई करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर उसे अकोट फैल पुलिस के हवाले कर दिया। आरोपी को पकड़ने में पुलिस निरीक्षक संतोष महल्ले की अगुवाई में निलेश खंडारे, रवि खंडारे, उमेश सुगंधी, मोहम्मद अय्याज उर्फ बब्बू, संदीप तराले ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। अकोट फैल पुलिस ने दस्तावेजों की खानापूर्ति करने के पश्चात उसे न्यायालय में पेश किया। न्यायाधीश ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया।

पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में कार्यान्वित पाहिजे व फरार दल को गुप्त जानकारी मिली कि हत्या व मकोका के आरोप में नामजद शेख मेहमूद शेख मेहमूद यह समीर के नाम से अमरावती जिले के बहिरम के पास ग्राम करंजगांव में छिपा हुआ है। आरोपी की पुष्टि होते ही दल ने पुलिस निरीक्षक संतोष महल्ले को जानकारी देते हुए जाल बिछाकर आरोपी शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया।

क्या था मामला {पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अकोट रोड पर अकोला के विख्यात व्यवसायी बिसेन का खेत था। खेत के विवाद को लेकर आरोपियों ने 5 अगस्त 2015 को खेत मालिक को चारपहिया वाहन से उड़ा दिया था। अस्पताल में उपचार के दौरान बिसेन की मौत हो गई थी, अकोट फैल पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपियों के खिलाफ हत्या की धाराओं के तहत अपराध दर्ज था। घटना की जांच के दौरान तत्कालीन पुलिस अधीक्षक के आदेश पर एसडीपीओ ने जांच करते हुए आरोपियों के खिलाफ मकोका के तहत अपराध दर्ज किया। 

अकोट फैल पुलिस ने शिकायत के आधार पर विजय कुरील, रिजवान खान सलीम खान, शेख कय्यूम शेख करीम, सलीम खान करीम खान, शेख इलियास के अलावा शेख मेहमूद शेख मेहमूद के खिलाफ अपराध दर्ज किया था। लेकिन घटना के बाद से शेख मेहमूद फरार होने में कामयाब हो गया था। जिसे दल ने 6 वर्षों के पश्चात गिरफ्तार करने में सफलता पाई।