दैनिक भास्कर हिंदी: जमीन घोटाला: कोर्ट ने आरोपियों के अरेस्ट वारंट जारी किए

September 7th, 2017

डिजिटल डेस्क, छिंदवाड़ा। पांढुर्ना में हुए 10 करोड़ के जमीन घोटाले में डेढ़ साल बाद कोर्ट ने आरोपियों पर प्रकरण दर्ज करते हुए अरेस्ट वारंट जारी किया है। कोर्ट ने पुलिस को 18 सितंबर तक की मोहलत देते हुए आरोपियों को अरेस्ट कर पेश करने के निर्देश दिए हैं। इस हाईप्रोफाइल जमीन घोटाले में फर्जी दस्तावेजों के दम पर छह आरोपियों ने पांढुर्ना की करीब एक हजार एकड़ जमीन बेच दी थी। 

करीब डेढ़ साल पहले पांढुुर्ना और बैतूल से लगी 980 एकड़ जमीन 6 आरोपियों ने मिलकर मुंबई निवासी रमेश चौरसिया को बेच दी थी। बाद में जांच हुई तो पाया गया कि फर्जी रजिस्ट्रार बन फर्जी स्टांप और यहां तक फर्जी किसानों के नाम पर ये घोटाला किया गया। जिसमें यहां के स्थानीय पटवारी मुन्नालाल पवार की सबसे बड़ी भूमिका थी। प्रकरण में न्यायालय में 13 जून को परिवाद प्रस्तुत किया गया। जिसके बाद हुई जांच में पाया गया है कि गलत दस्तावेजों के आधार पर इस हाईप्रोफाइल घोटाले को अंजाम दिया गया है। हाल ही में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट एमके त्रिपाठी की कोर्ट ने आरोपियों पर IPC की धारा 120 बी, 255, 419, 420, 423, 465, 466, 467, 468 और 471 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर पुलिस को तय समय पर सभी आरोपियों को पेश करने के आदेश दिए हैं। 

तहसीलदार सहित सब रजिस्ट्रार के हुए बयान 
डेढ़ साल से चल रही जांच में इस प्रकरण में पांढुर्ऩा तहसीलदार सहित सब रजिस्ट्रार के भी बयान दर्ज किए गए। जिसमें पाया गया कि स्टॉम्प के साथ-साथ पॉवर अटॉनी के सभी कागज फर्जी हैं। 

ऐसे किया था घोटाला
छह आरोपियों ने किसानों की फर्जी जमीन दिखाकर सौदा किया। पटवारी ने असली दस्तावेज दिखाकर रजिस्ट्री करवाई। छिंदवाड़ा में फर्जी रजिस्ट्रार के माध्यम से नागपुर रोड स्थित करण होटल में रजिस्ट्री कर दी और पांच करोड़ भी ले लिए। इस घोटाले में 150 रजिस्ट्रियां हुई। जिसमें 107 रजिस्ट्रियां प्रार्थी ने पुलिस को सौंपी थी। लेकिन पुलिस ने जांच गंभीरता से नहीं ली। 

ये थे घोटाले के मास्टर माइंड 
सतीश माकोड़े निवासी बैतूलगंज, बैतूल, नंदू मनोहर लाल मालवीय, निवासी बैतूल गंज, श्रीराम पिता तुलापाल, ग्राम चौरई छिंदवाड़ा, जीतू पिता श्याम मालवीय गोठी कॉलोनी, बैतूलमुन्नालाल पवार पटवारी पांढुर्न, मुन्नालाल पवार पटवारी पांढुर्ना, अशोक पिता श्रीराम जायसवाल निवासी बैतूल। इन सभी पर कोर्ट ने मामला कायम करते हुए पुलिस को अरेस्ट करने के निर्देश दिए हैं।