comScore

पोल्यूशन से होने वाले नुकसान की रिपोर्ट तैयार ,नीति पर जोर देना जरूरी

पोल्यूशन से होने वाले नुकसान की रिपोर्ट तैयार ,नीति पर जोर देना जरूरी

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  लगातार बढ़ता प्रदूषण सेहत के साथ-साथ आर्थिक रूप से भी नुकसान पहुंचा रहा है। पर्यावरण के प्रति असंवेदशील औद्योगिक इकाइयों की जिम्मेदारी तय करने के लिए इस दिशा में विशेष नीति और नियमन की आवश्यकता है। इसी को ध्यान में रखकर सीएसआईआर (नीरी) की ओर से फ्रेमवर्क फॉर एनवॉयरनमेंटल डैमेज कॉस्ट एसेसमेंट विद एग्जाम्पल रिपोर्ट तैयार की गई है। हाल ही इस रिपोर्ट का लोकार्पण नीरी के पूर्व निदेशक डॉ. सुकुमार दिवोदत्ता ने किया।

मूल्यांकन पर डाला गया प्रकाश
इस अवसर पर नीरी के निदेशक डॉ. राकेश कुमार ने कहा कि पॉल्यूटर-पे प्रिसिंपल व एक्सटेंडेड प्रोडयूसर रिस्पांसिबिलिटीज जैसे अधिनियमों को प्रभावी रूप से लागू करने के लिए इस रिपोर्ट की आवश्यकता थी। इससे नियामक, प्राधिकरणों और उद्याेगों को पर्यावरणीय क्षतिपूर्ति के संबंध में वास्तविक व्यय आंकने में मदद मिलेगी। रिपोर्ट तैयार करने वाले प्रमुख इंजीनियर हेमंत भेरवानी ने कहा कि इस फ्रेमवर्क से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मानकों के बीच के अंतर को पाटने में मदद मिलेगी। वैज्ञानिक अंकित गुप्ता ने कहा कि रिपोर्ट में पर्यावरणीय हानि के चारों क्षेत्र वायु, जल, जलवायु और ठोस अपशिष्ट में प्रदूषण को लेकर आर्थिक क्षति के मूल्यांकन के तौर-तरीकों पर भी प्रकाश डाला गया है। लोकार्पण कार्यक्रम में डॉ. आर. आर. सोंडे (कार्यकारी उपाध्यक्ष थर्मेक्स लिमिटेड), प्रो. अंजन रे (सीएसआईआर-आईआईपी देहरादून), डॉ. आत्या काप्ले उपस्थित थे।

वर्कशॉप में दी मेकअप की जानकारी
विदर्भ हिंदी साहित्य "उड़ान' के अंतर्गत "ब्रश अप योर ब्यूटी' कार्यशाला का आयोजन किया गया। प्रशिक्षिका स्वप्ना वडालिया ने विभिन्न प्रकार के मेकअप डे-एंड-नाइट मेकअप, मेच्योर्ड स्कीन मेकअप, डार्क सर्कल आई मेकअप, कैजुअल मेकअप एवं हेयर स्टाइल का प्रशिक्षण दिया। दैनिक जीवन में कैसे खुद को अपडेट रखें, साथ ही विभिन्न सौंदर्य प्रसाधनों की जानकारी एवं उसके उपयोग करने की विधि पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम के सफलतार्थ पूनम ितवारी, नीता सारड़ा, शांति कोठारी, शोभा लोया, उर्मिला चांडक, अंजु मंत्री, ज्योति हेड़ा ने प्रयास िकया। संचालन संयोजिका रूपा चांडक, पूर्णिमा काबरा ने िकया।

कमेंट करें
wgT1O