नशामुक्त भारत : आर एन टी यू, एन एस एस ने चलाया नशामुक्त भारत अभियान

December 5th, 2022

डिजिटल डेस्क, भोपाल। विश्व एड्स दिवस के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई रबीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय भोपाल द्वारा कुलसचिव डॉ विजय सिंह के निर्देशन में मिसरोद थाने के सहयोग से मिसरोद सड़क तथा जाटखेड़ी में नशामुक्त भारत अभियान चलाया गया। जिसमे मुख्य अतिथि थाना प्रभारी श्री रासबिहारी शर्मा उपस्थित रहे। श्री शर्मा ने कहा कि न केवल शहर में अपितु गांवों में भी युवाओं के बीच नशा करना एक फैशन बनता जा रहा है। जिससे युवा हमारे रियल युवा आदर्श स्वामी विवेकानंद जैसे महापुरुषों को भूलते जा रहे हैं और उनके दिखाए परहित व मानव सेवा के मार्ग से कटते जा रहे हैं। लेकिन राष्ट्रीय सेवा योजना के युवा नशे के खिलाफ अभियान चला रहे हैं यह प्रशंसा के योग्य है। युवा ही आज के समय में नशा मुक्ति अभियान में बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। वहीं कार्यक्रम का नेतृत्व कर रही जन्नत खान के नेतृत्व में स्वयंसेवकों ने मिसरोद सड़क पर यात्रियों को नशे के नुकसान के बारे में बताया तथा जाटखड़ी जाकर ग्रामीणों को पोस्टर के माध्यम से नशा छोड़ने हेतु संदेश दिया। 

इसी के साथ संस्था स्तर पर पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का भी आयोजन नशामुक्त भारत तथा एड्स जागरुकता थीम पर किया गया। जिसमें विश्वविद्यालय के 50 से अधिक रासेयो स्वयंसेवकों ने सहभागिता करते हुए विभिन्न समसामयिक उदाहरणों कागज पर रंगों से उकेरकर नशे से दूर रहने तथा एड्स से बचाव करने का संदेश दिया। एड्स जागरुकता थीम पर पोस्टर में प्रथम स्थान नर्सिंग डिपार्टमेंट के छात्र व रासेयो स्वयंसेवक शशिनाथ व साक्षी ने संयुक्त रूप से प्राप्त किया। द्वितीय स्थान स्वयंसेविका शबनम कुमारी ने प्राप्त किया। 

इसी प्रकार नशा मुक्त भारत थीम पर पोस्टर मेकिंग में पल्लवी साहनी ने विशिष्ट स्थान अर्जित किया‌। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के डिप्टी रजिस्ट्रार डॉ समीर चौधरी ने राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत आयोजित इस कार्यक्रम की भूरि भूरि प्रशंसा की तथा समाज में जागृति लाने में अपना योगदान देने के लिए सभी स्वयंसेवकों का आह्वान भी किया। श्री चौधरी ने कहा कि हम दुनिया की सबसे पुरा सभ्यता होते हुए भी सबसे युवा देश हैं। हमारे युवा दुनिया भर में भारत का नाम रोशन भी कर रहे हैं। परंतु नशे जैसी कुरीतियों में पड़कर युवा कमज़ोर हो रहे हैं अतः युवाओं को नशे से बाहर निकालकर उनकी ऊर्जा का उपयोग राष्ट्र निर्माण की दिशा में करना होगा। 

इस अवसर पर प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका निभा रहीं डॉ रुचि मिश्रा तिवारी व डॉ सावित्री सिंह परिहार ने प्रतिभागियों के संबोधित किया। संचालन स्वयंसेवक इंद्र डेहरिया तथा शिवेंद्र राजपूत ने तथा आभार ज्ञापन कार्यक्रम अधिकारी डॉ रेखा गुप्ता ने किया। कार्यक्रम का संयोजन कार्यक्रम अधिकारी गब्बर सिंह ने किया। कार्यक्रम में मुख्य भूमिका स्टेट कैंपर जन्नत खान, अविनाश कुमार, संदेश राजपूत, अमित कुमार, राजू कुमार, कोमल भारती, जिकरा खान, विवेक भास्कर, शाइस्ता परवीन, संस्कृति प्रसाद इत्यादि की रही‌।