बड़ी तब्दीली : कांग्रेस में लागू हो सकता है एक परिवार, एक टिकट का नियम

May 13th, 2022

डिजिटल डेस्क, उदयपुर। अक्सर ‘परिवारवाद’ के आरोपों से दो-चार होने वाली कांग्रेस पार्टी अब ‘एक परिवार, एक टिकट’ की व्यवस्था लागू करने पर गंभीरता से विचार कर रही है। माना जा रहा है कि नव संकल्प चिंतन शिविर में पार्टी ‘एक परिवार, एक टिकट’ पर निर्णय ले सकती है। साथ ही यह निर्णय भी हो सकता है कि आने वाले समय में कोई भी नेता एक पद पर पांच साल से अधिक समय तक बना नहीं रहेगा। कांग्रेस महासचिव अजय माकन ने बताया कि चिंतन शिविर में चर्चा के लिए ‘एक परिवार, एक टिकट’ का प्रस्ताव आया है। उन्होने कहा कि चिंतन शिविर के बाद संगठन में बहुत बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। उन्होने कहा कि बदलते समय के साथ संगठन का ढांचा नहीं बदला है। माकन ने बताया कि ‘एक परिवार, एक टिकट’ पर चर्चा हुई है। इस पर सहमति बन रही है। इसमें यह प्रावधान भी होगा कि परिवार के दूसरे व्यक्ति को टिकट पाने के लिए कम से कम पांच साल तक पार्टी के लिए काम करना होगा। मतलब साफ है कि किसी नेता के बेटे को पार्टी में आते ही टिकट नहीं मिलेगा। माकन ने बताया कि यह सुझाव भी आया है कि कोई भी व्यक्ति किसी पद पर पांच साल से ज्यादा समय तक नहीं रहे। अगर उसे पांच साल से ज्यादा समय तक पद पर रहना है तो उसके लिए तीन साल का ‘कूलिंग पीरियड’ हो और फिर वह उस पद पर आ सके। चिंतन शिविर में यह प्रस्ताव भी रखा गया है कि संगठन में हर स्तर पर 50 प्रतिशत जगह युवाओं को दी जाए। माकन के मुताबिक ब्लॉक और बूथ समितियों के बीच मंडल समिति बनाने पर सहमति बन गई है। एक मंडल समिति में 15 से 20 बूथ होंगे।

खबरें और भी हैं...