अकोला: ग्राम विकास समिति का बेमियादी अनशन

May 23rd, 2022

डिजिटल डेस्क, अकोला। बालापुर तहसील के ग्राम कोलासा निवासी मारुती वानखडे की अध्यक्षतावाली ग्राम विकास समिति ने 22 मई से न्याय मिलने तक जिलाधिकारी कार्यालय के सामने बेमियादी अनशन आरंभ किया है। ग्राम पंचायत कोलास के सरपंच सचिव, गुटविकास अधिकारी व जिला परिषद के सीईओ को लगातार विभिन्न मांगों को दूर करने के लिए निवेदन दिए किंतु उसपर कोई कार्यवाही नहीं की गई इसलिए ग्राम विकास समिति ने कलेक्ट्रेट के सामने धरना दिया था फिर भी कोई हल न निकलने से समिति ने अनशन आरंभ किया। संबंधित ग्राम पंचायत के पदाधिकारी स्वयं को डिटेक्टर समझकर जानबूझकर मांगों को नजर अंदाज कर रहे है इसलिए उनके खिलाफ कार्यवाही करने तथा न्याय देने की मांग आंदोलन के माध्यम से की जा रही है। 

यह है मांगें 

कृषि ढांचे की प्रतियां समिति को दी जाएं , ग्रामपंचायत के सभी बैंक अकाउंट के स्टेटमेन्ट समिति को दिए जाएं, महानिर्मिती पारस की ओर से आस्थापना कर के रुप में एक करोड़ सत्ताईस लाख रुपए की निधि प्राप्त हुई है वह किस किस चीज पर खर्च की गई तथा किसनी निधि शेष है उसकी प्रति दी जाएं। मलिन बस्ती के लिए कितना निधि कब कब तथा कहां खर्च हुआ उसकी प्रतियां दी जाएं। कोलासा गांव के विकलांगों व घुमंतू जाति के लिए कौन सी योजनाएं चलाई गई तथा निधि कहां खर्च हुई, घर टैक्स तथा जल कर से प्राप्त पांच लाख की निधि का हिसाब दिया जाएं। दो साल से रिक्त उपसरपंच पद क्यों नहीं भरा गया यह बताया जाएं। इन तथा अन्य मांगों को लेकर यह आंदोलन किया जा रहा है। उपरोक्त सभी मामलों में ग्रामपंचायत के पदाधिकारी लिप्त होने की संभावना है इसलिए जांच समिति बैठाकर यदि धांधली हुई हो तो वसूली की जाएं अन्यथा हमें कड़ा आंदोलन करना पड़ेगा ऐसी चेतावनी आंदोलनकर्ताओं ने दी है। इस दौरान ग्रामविकास समिति कोलासा के अध्यक्ष मारुती वानखड़े तथा उपाध्यक्ष प्रमोद वानखड़े अनशन पर बैठे हैं।