दैनिक भास्कर हिंदी: चैरिटी कमिश्नर कार्यालय में सफाई कर्मचारी ने की आत्महत्या   

May 9th, 2019

डिजिटल डेस्क, अकोला। अकोला मूर्तिजापुर मार्ग पर स्थित सार्वजनिक न्याय पंजीयन (चैरिटी कमिश्नर) कार्यालय में नियुक्त सफाई कर्मचारी भीम नगर निवासी मोहन संकत ने कार्यालय में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। प्रतिदिन की तरह कर्मचारी कार्यालय पहुंचे तो  कार्यालय का मुख्य प्रवेश द्वार अंदर से बंद था। दरवाजे को खाेलने का प्रयास कर्मचारियों द्वारा करने के बावजूद भी न खुलने पर उन्होंने इस बात की जानकारी सिविल लाइन पुलिस थाने के दल को दी गई। हाल ही में घटित हत्याकांड की घटना के कारण पुलिस निरीक्षक विनोद ठाकरे अपने दल के साथ तत्काल कार्यालय पहुंचे। दरवाजा खुलता हुआ न देख पुलिस निरीक्षक के आदेश पर कर्मचारियों ने दरवाजा तोड़कर भीतर प्रवेश किया।

पुलिस दल को सामने का नजारा दिखाई देते ही उनके होश उड़ गए क्योंकि मोहन संकत ने फांसी लगाकर अपनी जीवन लीला खत्म कर ली। कार्यालय में घटित इस घटना की जानकारी पुलिस निरीक्षक ने अपने वरिष्ठ अधिकारी को देते ही अपर पुलिस अधीक्षक विक्रांत देशमुख तथा स्थानीय अपराध शाखा के दल ने घटनास्थल का मुआयना किया। पुलिस ने पंचनामा करने के बाद शव का विच्छेदन के लिए भेज दिया। फिलहाल पुलिस आकस्मिक मौत की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है।

4 दिनों पूर्व हुई थी इसी कार्यालय में बेरहमी से हत्या 
सोमवार की सुबह गवली समाज के महाराष्ट्र अध्यक्ष किसनराव हुंडीवाले एक मामले में कार्यालय में उपस्थित थे। जहां पर गावंडे परिवार ने उन पर जानलेवा हमला कर बेरहमी से हत्या कर दी थी। पुलिस इस हत्याकांड में शामिल आरोपियों की तलाश कर ही थी कि इसी कार्यालय में 4 दिनों के अंतराल में दूसरी घटना ने पुलिस के माथे पर बल ला दिया। जबकि एक सप्ताह में घटित दूसरी घटना के कारण वहां पर कार्यरत कर्मचारियों में डर का वातावरण दिखाई दे रहा है।

हत्याकांड से जुडा होने का संदेह 
सोमवार को दिनदहाडे़ कार्यालय में घटित नरसंहार की घटना के समय कई मुख्य चश्मदीद गवाह वहां पर मौजूद थे। जिन्होंने हत्या करने वाले अपराधियों को देखा था। इस हत्याकांड में शामिल आरोपियों काफी रसूखदार होने के कारण घटना के समय वहां मौजूद लोगों में भी खौफ था। चैरिटी कमिश्नर कार्यालय के सफाई कर्मचारी द्वारा चार दिनों में ही आत्महत्या किए जाने से इस घटना को लेकर काफी चर्चाएं चल रही है। यह आत्महत्या कहीं उस जघन्य हत्याकांड से तो जुडा नहीं है इसकी भी जांच पुलिस कर रही है। 

मृतक की जेब से मिले कागजात 
घटनास्थल पर मौजूद पुलिस कर्मचारियों ने फांसी पर झूल रहे मोहन संकत का शव नीचे उतारने के बाद पुलिस ने उनकी जेब की तलाशी ली। पुलिस को मृतक की जेब से  नगद, मोबाइल तथा कुछ कागजात मिले। इन कागजों में क्या मृतक ने आत्महत्या के कारण की कोई चिठ्‌ठी रखी थी अथवा नहीं इसकी जांच पुलिस कर रही है। पुलिस से उन दस्तावेजों के बारे में जानकारी लेने का प्रयास करने पर उन्होंने यह मामला जांच से जुडा होने के कारण उन्होंने किसी भी प्रकार की जानकारी देने से इंकार कर दिया।
 

खबरें और भी हैं...