comScore

इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच पांचवां टेस्ट आज से, मेजबान की कोशिश सीरीज ड्रॉ कराने की होगी

इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच पांचवां टेस्ट आज से, मेजबान की कोशिश सीरीज ड्रॉ कराने की होगी

हाईलाइट

  • इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच पांचवां और आखिरी टेस्ट गुरुवार से द ओवल मैदान पर खेला जाएगा
  • पांच मैचों की इस सीरीज में ऑस्ट्रेलिया 2-1 से आगे चल रही है

डिजिटल डेस्क, लंदन। चौथे टेस्ट मैच में मेजबान इंग्लैंड को 185 रन से हराने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम गुरुवार से यहां द ओवल मैदान पर होने वाले पांचवें और अंतिम टेस्ट मैच को जीतकर एशेज सीरीज में इतिहास रचना चाहेगी। इंग्लैंड ने तीसरा टेस्ट रोमांचक अंदाज में एक विकेट से जीता था, लेकिन वह चौथा टेस्ट 185 रनों से गंवा बैठी। इस हार के बाद अब मेजबान टीम सीरीज में 1-2 से पीछे चल रही है और उसकी कोशिश पांचवें मैच को जीतकर सीरीज 2-2 से बराबरी करने की होगी।

इंग्लैंड ने इस मैच के लिए टीम में दो बदलाव किया हैं। मेजबान टीम ने सलामी बल्लेबाज जेसन रॉय और क्रेग ओवर्टन की जगह हरफनमौला खिलाड़ी क्रिस वोक्स और सैम कुरेन को अंतिम एकादश में शामिल किया है। इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने बुधवार को कहा कि कंधे की चोट से जूझने रहे बेन स्टोक्स बतौर बल्लेबाज खेलेंगे। वोक्स सीरीज के पहले तीन मैचों में इंग्लिश टीम का हिस्सा थे जबकि 21 वर्षीय कुरेन पहली बार एशेज में खेलने उतरेंगे। मेजबान इंग्लैंड के कोच ट्रेवर बेलिस का यह टीम के साथ यह आखिरी मैच होगा और टीम अपने कोच को विजयी विदाई देना चाहेगी।

इंग्लैंड की टीम अपने बल्लेबाजों से इस मैच में अच्छा प्रदर्शन चाहेगी। बेन स्टोक्स ने जरूर हेडिंग्ले में मैच जिताऊ पारी खेली थी, लेकिन चौथे मैच में अपने 11वें ओवर में वह अपना कंधा चोटिल करा बैठे थे। इसके बाद वह ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में गेंदबाजी कराने नहीं आए थे।

मेजबान इंग्लैंड की मुख्य चिता शानदार फॉर्म में चल रहे स्टीवन स्मिथ को रोकने की है। स्मिथ सीरीज में अब तक तीन शतक और दो अर्धशतकों की मदद से 680 रन बना चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया की 2-1 की बढ़त में स्मिथ का अब तक शानदार योगदान रहा है।

दूसरी तरफ ऑस्ट्रेलिया टीम की नजरें 2001 के बाद से इंग्लैंड की धरती पर पहली बार एशेज सीरीज जीतकर इतिहास रचने की है। मेहमान टीम की तेज गेंदबाजी आक्रमण ने अब तक अच्छा प्रदर्शन किया है और वे ओवल में भी इसे जारी रखना चाहेंगे। टीम के तेज गेंदबाज पैट कमिंस इस सीरीज के सभी मैचों में खेले हैं और इसमें भी उनका खेलना तय है। कोच जस्टिन लेंगर पहले ही कह चुके हैं कि उनकी टीम 3-1 से सीरीज जीतना चाहेगी। 

ऑस्ट्रेलिया के लिए डेविड वॉर्नर का खराब फॉर्म जारी रहना चिंता की बात है। वॉर्नर ने सीरीज में अब तक केवल 79 रन बनाए हैं। तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने उन्हें कई बार आउट किया है। हालांकि वॉर्नर की खराब फॉर्म के बावजूद कोच लेंगर ने उनका समर्थन किया है।

ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच के लिए हरफनमौला खिलाड़ी मिचेल मार्श को अपनी 12 सदस्यीय टीम में शामिल किया है। मार्श को ट्रेविस हेड की जगह टीम में चुना गया है। मार्श ने दिसंबर 2018 के बाद से ऑस्ट्रेलिया के लिए एक भी मैच नहीं खेला है। कप्तान टिम पेन ने मैच की पूर्वसंध्या पर संवाददाता सम्मेलन में इसकी जानकारी दी। उन्होंने कहा, ट्रेविस को इसलिए नहीं खेला रहे हैं क्योंकि हमें अतिरिक्त गेंदबाज की जरूरत महसूस हुई है।

टीमें :

ऑस्ट्रेलिया : टिम पेन (कप्तान/विकेटकीपर), स्टीवन स्मिथ, डेविड वार्नर, मार्कस हैरिस, मार्नस लाबुशेन, मिचेल मार्श, मैथ्यू वेड, पैट कमिंस, पीटर सिडल, मिशेल स्टार्क, नाथन लॉयन, जोश हेजलवुड।

इंग्लैंड : जोए रूट (कप्तान), रोरी बर्न्‍स, जोए डेनले, सैम कुरेन, बेन स्टोक्स, जॉनी बेयरस्टो (विकेटकीपर), जोस बटलर, क्रिस वोक्स, जोफ्रा आर्चर, स्टुअर्ट ब्रॉड, जैक लीच।

कमेंट करें
JVm2k