क्रिकेटर को कोर्ट का आदेश : भारतीय क्रिकेटर को कोर्ट से झटका, पत्नी को देना होगा इतना गुजरा भत्ता 

January 23rd, 2023

हाईलाइट

  • कोर्ट के फैसले से खुश नहीं हसीन जहां

डिजिटल डेस्क, कोलकाता। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी को कोलकाता की अदालत ने बड़ा झटका दिया है। अलीपुर कोर्ट ने शमी को अपनी अलग रह रही पत्नी हसीन जहां को पचास हजार रुपये मासिक गुजारा भत्ता देने का आदेश दिया। इस मामले पर यह फैसला जज अनिंदिता गांगुली ने सुनाया। 

कोर्ट के फैसले से खुश नहीं हसीन जहां 

कोर्ट के इस फैसले से हसीन जहां खुश नहीं है। क्योंकि उन्हें 10 लाख रुपये प्रति माह की मांग की थी। हालांकि हसीन जहां इस राशि से खुश नहीं हैं. क्योंकि उन्होंने प्रति माह 10 लाख रुपये की मांग की थी. साल 2018 में हसीन ने 10 लाख रुपये मासिक गुजारा भत्ता की मांग को लेकर कानूनी याचिका दायर की थी। याचिका में हसीन जहां ने कहा था कि वह निजी खर्च के लिए 7 लाख रुपये और बेटी के पालन-पोषण के लिए 3 लाख रुपये प्रति माह गुजारा भत्ता चाहती हैं। जानकारी के मुताबिक, हसीन जहां अब फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट में अपील कर सकती हैं।

ये था मामला 

साल 2018 में शमी की शादी उस समय खतरे में आ गई थी जब उनकी पत्नी हसीन जहां ने उन पर घरेलू हिंसा, मैच फिक्सिंग, दहेज उत्पीड़न जैसे गंभीर आरोप लगाए थे। पत्नी ने इस दौरान शमी पर एक्स्ट्रा मैरिटल जैसा आरोप लगाया था। हसीन ने कहा था कि शमी के दूसरी लड़कियों से भी संबंध हैं। हालांकि, शुरुआत में शमी इन सवालों से बचते रहे थे लेकिन हसीन जहां ने कोर्ट में याचिका दायर कर स्थिति को साफ कर दिया था। 

शमी ने उस दौरान आरोपों पर सफाई देते हुए कहा था, "हसीन और उनके परिवार के लोग कह रहे हैं कि बैठकर सब मुद्दों पर बात करेंगे। लेकिन मैं नहीं जानता कि कौन उन्हें भड़का रहा है। हमारे पर्सनल लाइफ के बारे में चल रही हैं वह सब पूरी तरह झूठ है। मेरे खिलाफ कोई बड़ी साजिश है। मुझे बदनाम करने या मेरा करियर खत्म करने की यह कोशिश है।"