comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

खुलासा: ब्रेसनेन ने कहा, 2011 में सचिन को आउट करने पर मिली थीं जान से मारने की धमकियां

खुलासा: ब्रेसनेन ने कहा, 2011 में सचिन को आउट करने पर मिली थीं जान से मारने की धमकियां

हाईलाइट

  • टिम ब्रेसनेन ने 2011 में टेस्ट मैच में सचिन तेंदुलकर को LBW आउट किया था
  • ब्रेसनेन ने कहा- सचिन को आउट देने के बाद अंपायर रॉड टकर के घर पर धमकी भरी चिट्ठियां आती थीं

डिजिटल डेस्क, लंदन। इंग्लैंड के पूर्व तेज गेंदबाज टिम ब्रेसनेन ने कहा है कि 2011 में टेस्ट मैच में सचिन तेंदुलकर को LBW आउट करने के बाद उनको और अंपायर रॉड टकर को जान से मारने की धमकी मिली थीं। सचिन इस मैच में शतक से चूक गए थे और अगर वह शतक बना लेते तो यह उनका इंटरनेशनल क्रिकेट में 100वां शतक होता। सचिन जब 91 रन पर थे तब उन्हें LBW आउट दे दिया गया था। यह बहुत करीबी फैसला था, क्योंकि रिप्ले में गेंद लेग स्टम्प के ऊपरी हिस्से को बस छूती दिख रही थी। इसके बाद सचिन ने 16 मार्च 2012 को बांग्लादेश के खिलाफ ढाका में अपना 100वां शतक बनाया था।

ब्रेसनेन ने यार्कशायर क्रिकेट कवर्स ऑफ पोडकास्ट पर बातचीत के दौरान कहा, सचिन के नाम 99 इंटरनेशनल शतक थे और उस सीरीज में रिव्यू नहीं थे, क्योंकि BCCI तब इसके खिलाफ थी। यह टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच था, जो ओवल मैदान पर खेला जा रहा था। गेंद (जिस पर सचिन आउट हुए) शायद लेग स्टम्प के बाहर जा रही थी और अंपायर टकर ने उन्हें आउट दे दिया। सचिन उस समय 91 रन पर थे और आउट नहीं होते तो निश्चित तौर पर शतक बना लेते। हमने वो सीरीज जीत ली और नंबर-1 बन गए थे।

मुझे ट्विटर पर जान से मारने की धमकियां मिली थीं
इंग्लैंड के लिए 23 टेस्ट और 85 वनडे खेलने वाले ब्रेसनन ने कहा कि, इसके बाद मुझे और अंपायर को बहुत दिनों बाद तक जान से मारने की धमकियां मिल रही थीं। मुझे ट्विटर पर धमकी मिली और अंपायर टकर को उनके घर पर लोग धमकियों भरे पत्र भेज रहे थे कि, आपने उन्हें आउट दे कैसे दिया। कुछ महीनों बाद मैं टकर से मिला तब उन्होंने बताया कि, भाई मुझे सुरक्षा गार्ड मंगाने पड़े थे। ऑस्ट्रेलिया में उन्हें पुलिस सुरक्षा लेनी पड़ी थी।

कमेंट करें
yGfcU