दिल्ली: दिल्ली में अगले सप्ताह से जेईई, मेडिकल, आईएएस की निशुल्क कोचिंग

July 22nd, 2022

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली में नए सेशन के छात्रों के लिए अगले सप्ताह से जेईई, मेडिकल, आईएएस, आईपीएस परीक्षा की कोचिंग क्लासेस शुरू की जाएगी। खास बात यह है कि कमजोर तबके के छात्रों के लिए शुरू की गई यह प्रोफेशनल कोचिंग पूरी तरह से निशुल्क है।

दिल्ली सरकार अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति वर्ग और गरीब परिवार के प्रतिभाशाली छात्रों को फ्री में कोचिंग मुहया करा रही है। इसमें दिल्ली के रहने वाले बच्चे जिन्होने यहीं से दसवीं और बारहवीं अच्छे नंबरों से पास की हैं, उनके लिए जेईई, मेडिकल, आईएएस, आईपीएस, आईआरएस और एनडीएन जैसे अन्य कम्पेटिटिव एग्जाम के लिए फ्री में कोचिंग सुविधा का प्रस्ताव है। इसके लिए दिल्ली के अगल-अलग इलाकों में करीब 46 कोचिंग संस्थान हैं।

जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा विकास योजना के अतंर्गत शुरू की गई इस कोचिंग को लेकर दिल्ली के समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने जय भीम मुख्यमंत्री प्रतिभा योजना के वरिष्ठ अधिकारियों और कोचिंग संचालकों के साथ समीक्षा बैठक की। समाज कल्याण मंत्री ने 2022-23 सेशन के क्लासेस के तैयारियों का जायजा लिया।

राजेंद्र पाल गौतम ने कहा कि हम इस साल दसवीं और बारहवीं पास करने वाले बच्चों के लिए अगले एक सप्ताह में क्लासेस शुरू कर देंगे। ताकि उनका कोर्स समय से पूरा हो सकें। इसके लिए सभी कोचिंग संचालकों को दिशा निर्देश जारी कर दिए जाएंगे। दिल्ली के गरीब परिवार के सभी बच्चे आईआईटी, मेडिकल और यूपीएससी जैसे कम्पेटिटिव एग्जाम में टॉप करें। इसके लिए दिल्ली सरकार शिक्षा क्षेत्र को विश्वस्तरीय बना रही है।

बैठक के दौरान समाज कल्याण मंत्री ने विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों और कोचिंग संचालकों से 2022-23 का नए सेशन शुरू करने के लिए किए जा रहे कार्यों को जानकारी ली। साथ ही बच्चों को दी जाने वाली सुविधाओं को बढ़ाने का भी दिशा निर्देश दिया। गौतम इस साल जेईई और अन्य कम्पटेटिव एग्जाम में शामिल होने वाले बच्चों के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि इस योजना के लाभार्थी छात्र पीछे नहीं छूटना चाहिए, उनकी क्लासेस समय पर शुरू हो जानी चाहिए। इस दौरान विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों और कोचिंग संचालकों ने योजना को विकसित करने के लिए अलग-अलग सुक्षाव भी दिए।

गौतम ने कहा कि इस साह जेईई और अन्य कम्पटेटिव एग्जाम में उत्र्तीण होने वाले बच्चों के लिए एक कार्यक्रम आयोजित करके सम्मानित भी किया जाएगा। हम इस साल दसवीं और बारहवीं पास करने वाले बच्चों के लिए अगले एक सप्ताह में क्लासेस शुरू कर देंगे। ताकि उनका कोर्स समय से पूरा हो सकें। इसके लिए सभी कोचिंग संचालकों को दिशा निर्देश जारी कर दिए जाएंगे। दिल्ली के गरीब परिवार के सभी बच्चे आईआईटी, मेडिकल और यूपीएससी जैसे कम्पेटिटिव एग्जाम में टॉप करें।

 

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.