दैनिक भास्कर हिंदी: Fake News: पुलिसकर्मियों की 2 महिलाओं से झड़प की वीडियो बिहार की बताकर सोशल मीडिया पर वायरल, जानें क्या है सच

October 27th, 2020

डिजिटल डेस्क। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो में कुछ पुलिसकर्मियों की दो महिलाओं से झड़प होती दिखाई दे रही है। दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो दिखाता है कि बीजेपी ने बिहारवासियों पर कैसे अत्याचार किया है। 

किसने किया शेयर?
कई ट्विटर और फेसबुक यूजर ने भी वीडियो शेयर कर यही दावा किया है। वीडियो को पोस्ट करते हुए एक फेसबुक पेज ने कैप्शन में लिखा है, "भाजपा का अत्याचार, बिहार वासियों भाजपा को वोट देने से पहले ये वीडियो जरूर देख लेना. अब मौका मिला है अपनी गरीब बहिन बेटियों पर हुए अत्याचारों का बदला लेना है,लालटेन को वोट देना है!!"। 

क्या है सच?
भास्कर हिंदी की टीम ने पड़ताल में पाया कि, सोशल मीडिया पर वायरल दावा गलत है। दरअसल यह वीडियो इसी साल अप्रैल का है और मुंबई के मानखुर्द उपनगर का है। महाराष्ट्र में पिछले साल नवंबर से शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के गठबंधन (महा विकास अघाड़ी) वाली सरकार है, बीजेपी की नहीं। 

इंटरनेट पर सर्च करने पर हमें The Quint की एक रिपोर्ट मिली। इसके मुताबिक, पुलिस और महिलाओं की ये झड़प मुंबई के मानखुर्द में 17 अप्रैल को हुई थी। वीडियो में दिख रहा इलाका उस समय कोरोनावायरस के चलते कन्टेनमेंट जोन में आता था। लॉकडाउन गाइडलाइन की वजह से पुलिस और बीएमसी इलाके में सब्जी बेचने वालों पर सख्ती करने की कोशिश कर रही थी। इसी को लेकर सब्जीवालों और अधिकारियों में झड़प हो गई और मामला बिगड़ गया। पुलिस ने इस घटना को लेकर कुछ सब्जी वालों पर मामला भी दर्ज किया था। इसका मतलब यह साफ है कि, वीडियो महाराष्ट्र का है जहां बीजेपी की सरकार नहीं है। हालांकि, ये बात भी सच है कि कोरोना लॉकडाउन के समय इस तरह के वीडियो कई जगहों से आए थे, जिसमें पुलिस सब्जी के ठेले पलटते हुए दिख रही है। ऐसे कुछ वीडियो बीजेपी शाषित राज्यों से भी सामने आए थे। 

निष्कर्ष: सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के साथ किया जा रहा दावा गलत है। दरअसल वीडियो बिहार का नहीं महाराष्ट्र का है। 

खबरें और भी हैं...