comScore

Laptop: HP ने भारत में लॉन्च किए दो नए इंटेल लैपटॉप, जानें कीमत और फीचर्स 

Laptop: HP ने भारत में लॉन्च किए दो नए इंटेल लैपटॉप, जानें कीमत और फीचर्स 

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कंप्यूटर एवं प्रिंटर हार्डवेयर बनाने वाली अमेरिकी कंपनी HP (एचपी) ने भारत में अपने दो नए इंटेल लैपटॉप लॉन्च किए हैं। इनमें HP 14s (एचपी 14एस) और HP Pavilion X360 14 Notebook (एचपी पवेलियन एक्स360 नोटबुक) शामिल है। यह दोनों लैपटॉप कंपनी के नए 'Always Connected' PC पोर्टफोलियो के तहत पेश किए गए हैं। दोनों लैपटॉप में 10th जेनेरेशन इंटेल मोबाइल प्रोसेसर और 4G LTE कनेक्टिविटी दी गई है। 

बात करें कीमत की तो HP 14s के इंटेल i3 कोर प्रोसेसर वाले लैपटॉप को 44,999 रुपए में लॉन्च किया गया है। वहीं इंटेल कोर i5 प्रोसेसर वाले लैपटॉप की कीमत 64,999 रुपए में लॉन्च किया है। जबकि HP Pavilion X360 14 Notebook (2020) को 84,999 रुपए की शुरुआती कीमत में लॉन्च किया गया है। यह लैपटॉप 1 जुलाई से खरीद के लिए उपलब्ध होगा।

लॉन्च ऑफर के तहत कंपनी द्वारा HP Notebook पर Jio नेटवर्क पर रोजाना 6 माह तक फ्री (1.5GB) डाटा दिया जा रहा है। इसके अलावा ग्राहकों को खरीद के शुरुआती छह महीनों के बाद jio डेटा प्लान पर 30 प्रतिशत का डिस्काउंट भी मिलेगा।

Xiaomi का पहला लैपटॉप होगा Mi Notebook, मिलेगा 12 घंटे का बैटरी बैकप

HP 14s (2020) स्पेसिफिकेशन
HP 14s (2020) में 14 इंच की फुल-HD IPS डिस्प्ले दी गई है, जो कि 1920x1080 पिक्सल का रेजॉल्यूशन देती है। इसमें 250 निट्स ब्राइटनेस और 45 प्रतिशत NTST कलर गैमट ​​है। यह नोटबुक 10th Gen Intel Core i5 प्रोसेसर पर काम करता है, जिसमें Intel UHD ग्राफिक्स और 8GB डीडीआर4-2666 SD रैम की जुगलबंदी देखने को मिलती हैं कंपनी ने इसमें 1 TB 5400 RPM साटा एडीडी और 256 GB पीसीआईई एनवीएमई एम.2 एसएसडी स्टोरेज विकल्प भी दिए हैं।

4G कनेक्टिविटी लिए नए HP14s में एक इन-बिल्ट इंटेल एक्सएमएम 7360 4G LTE 6 मॉडम और एक डेडिकेटेड सिम कार्ड स्लॉट दिया गया है। अन्य कनेक्टिविटी विकल्पों में डुअल-बैंड वाई-फाई, ब्लूटूथ v5.0, एक यूएसबी टाइप-सी पोर्ट, एक एचडीएमआई 1.4 बी, दो यूएसबी टाइप-ए पोर्ट और एक हेडफोन/माइक्रोफोन कॉम्बो शामिल हैं। 

लैपटॉप में एचपी ट्रू विजन 720P HD वेब कैमरा मिलता है और इसमें डिजटल इंटीग्रेटेड डुअल-एरे माइक्रोफोन दिए गए हैं। इसके अलावा आपको एक मल्टी-फॉर्मेट एसडी कार्ड रीडर भी मिलता है। HP 14 s (2020) एक फुल साइज, आइलेंड-टाइप कीबोर्ड के साथ आता है। नोटबुक एक तीन-सैल 41Wh लिथियम-आयन बैटरी से लैस आता है। इसका वजन 1.53 किलोग्राम है।

TUF/ROG laptop: Asus ने भारत में लॉन्च किए गेमिंग लैपटॉप और डेस्कटॉप, जानें कीमत

HP Pavilion x360 14 (2020) स्पेसिफिकेशन
वहीं HP Pavilion x360 14 (2020) लैपटॉप में भी 14-इंच की फुल-HD डिस्प्ले दी गई है। जिसका स्क्रीन टू बॉडी रेश्यो 82.47% होगा। इसमें 10th जेनरेशन का इंटेल कोर i5 प्रोसेसर दिया गया है। यह इंटेल आईरिस प्लस ग्राफिक्स के साथ आता है। नोटबुक में 4G सिम कार्ड स्लॉट दिया गया है और यह USB टाइप-सी पोर्ट के साथ आता है। इसमें हैंड्स-फ्री एक्सेस के लिए अमेजन एलेक्सा वेक ऑन वॉयस फीचर दिया गया है। इस लैपटॉप में भी डुअल स्पीकर्स मिलते हैं, जो B&O Audio और एचपी ऑडियो बूस्ट पर काम करता है। कंपनी का दावा है कि लैपटॉप एक बार चार्ज होने पर 11 घंटे का बैकअप देने में सक्षम है।

कमेंट करें
jmvlI
NEXT STORY

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

छत्तीसगढ़ में नक्सलवाद का खात्मा ठोस रणनीति से संभव - अभय तिवारी

डिजिटल डेस्क, भोपाल। 21वीं सदी में भारत की राजनीति में तेजी से बदल रही हैं। देश की राजनीति में युवाओं की बढ़ती रूचि और अपनी मौलिक प्रतिभा से कई आमूलचूल परिवर्तन देखने को मिल रहे हैं। बदलते और सशक्त होते भारत के लिए यह राजनीतिक बदलाव बेहद महत्वपूर्ण साबित होगा ऐसी उम्मीद हैं।

अलबत्ता हमारी खबरों की दुनिया लगातार कई चहरों से निरंतर संवाद करती हैं। जो सियासत में तरह तरह से काम करते हैं। उनको सार्वजनिक जीवन में हमेशा कसौटी पर कसने की कोशिश में मीडिया रहती हैं।

आज हम बात करने वाले हैं मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस (सोशल मीडिया) प्रभारी व राष्ट्रीय समन्वयक, भारतीय युवा कांग्रेस अभय तिवारी से जो अपने गृह राज्य छत्तीसगढ़ से जुड़े मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं और छत्तीसगढ़ को बेहतर बनाने के प्रयास के लिए लामबंद हैं।

जैसे क्रिकेट की दुनिया में जो खिलाड़ी बॉलिंग फील्डिंग और बल्लेबाजी में बेहतर होता हैं। उसे ऑलराउंडर कहते हैं अभय तिवारी भी युवा तुर्क होने के साथ साथ अपने संगठन व राजनीती  के ऑल राउंडर हैं। अब आप यूं समझिए कि अभय तिवारी देश और प्रदेश के हर उस मुद्दे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगातार अपना योगदान देते हैं। जिससे प्रदेश और देश में सकारात्मक बदलाव और विकास हो सके।

छत्तीसगढ़ में नक्सल समस्या बहुत पुरानी है. लाल आतंक को खत्म करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही है. बावजूद इसके नक्सल समस्या बरकरार है।  यह भी देखने आया की पूर्व की सरकार की कोशिशों से नक्सलवाद नहीं ख़त्म हुआ परन्तु कांग्रेस पार्टी की भूपेश सरकार के कदम का समर्थन करते हुए भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर अभय तिवारी ने विश्वास जताया है कि कांग्रेस पार्टी की सरकार एक संवेदनशील सरकार है जो लड़ाई में नहीं विश्वास जीतने में भरोसा करती है।  श्री तिवारी ने आगे कहा कि जितने हमारे फोर्स हैं, उसके 10 प्रतिशत से भी कम नक्सली हैं. उनसे लड़ लेना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन विश्वास जीतना बहुत कठिन है. हम लोगों ने 2 साल में बहुत विश्वास जीता है और मुख्यमंत्री के दावों पर विश्वास जताया है कि नक्सलवाद को यही सरकार खत्म कर सकती है।  

बरहाल अभय तिवारी छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री बघेल के नक्सलवाद के खात्मे और छत्तीसगढ़ के विकास के संबंध में चलाई जा रही योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने के लिए निरंतर काम कर रहे हैं. ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने यह कई बार कहा है कि अगर हथियार छोड़ते हैं नक्सली तो किसी भी मंच पर बातचीत के लिए तैयार है सरकार। वहीं अभय तिवारी  सर्कार के समर्थन में कहा कि नक्सली भारत के संविधान पर विश्वास करें और हथियार छोड़कर संवैधानिक तरीके से बात करें।  कांग्रेस सरकार संवेदनशीलता का परिचय देते हुए हर संभव नक्सलियों को सामाजिक  देने का प्रयास करेगी।  

बीते 6 महीने से ज्यादा लंबे चल रहे किसान आंदोलन में भी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से अभय तिवारी की खासी महत्वपूर्ण भूमिका हैं। युवा कांग्रेस के बैनर तले वे लगातार किसानों की मदद के लिए लगे हुए हैं। वहीं मौजूदा वक्त में कोरोना की दूसरी लहर के बाद बिगड़ी स्थितियों में मरीजों को ऑक्सीजन और जरूरी दवाऐं निशुल्क उपलब्ध करवाने से लेकर जरूरतमंद लोगों को राशन की व्यवस्था करना। राजनीति से इतर बेहद जरूरी और मानव जीवन की रक्षा के लिए प्रयासरत हैं।

बहरहाल उम्मीद है कि देश जल्दी करोना से मुक्त होगा और छत्तीसगढ़ जैसा राज्य नक्सलवाद को जड़ से उखाड़ देगा। देश के बाकी संपन्न और विकासशील राज्यों की सूची में जल्द शामिल होगा। लेकिन ऐसा तभी संभव होगा जब अभय तिवारी जैसे युवा और विजनरी नेता निरंतर रणनीति के साथ काम करेंगे तो जल्द ही छत्तीसगढ़ भी देश के संपन्न राज्यों की सूची में शामिल होगा।