comScore

कैमरा फोन: Realme X3 Super Zoom हुआ लॉन्च, इसमें फोटोग्राफी के लिए मिला 60x जूम

कैमरा फोन: Realme X3 Super Zoom हुआ लॉन्च, इसमें फोटोग्राफी के लिए मिला 60x जूम

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। चीन की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Oppo (ओप्पो) की सब- ब्राण्ड Realme (रियलमी) ने अपने बहुप्रतीक्षित हैंडसेट X3 Super Zoom (एक्स3 सुपर जूम) को लॉन्च कर दिया है। जैसा कि नाम से पता चलता है यह फोन फोटोग्राफी के शौकीनों के लिए खास है। कंपनी ने इसमें क्वॉड कैमरा सेट​अप का यूज किया है। इसमें 64 मेगापिक्सल का प्राइमरी कैमरा मिलता है। फिलहाल इस फोन को कंपनी ने यूरोप मार्केट में लॉन्च किया है। भारत में इसे कब लॉन्च किया जाएगा, इस बारे में कोई जानकारी सामने ​नहीं आई है। 

Realme X3 Super Zoom को सिर्फ एक ही स्टोरेज वेरियंट में लॉन्च किया गया है। बात करें कीमत की तो इसे कंपनी ने 499 यूरो (लगभग 41,500 रुपए) की शुरुआती कीमत में लॉन्च किया है। कितना खास है ये स्मार्टफोन आइए जानते हैं, इसके फीचर्स और स्पेसिफिकेशन...

iQOO 3 5G ट्रांसफॉर्मर्स लिमिटेड एडिशन लॉन्च, जानें इसकी खूबियां

स्पेसिफिकेशन 
डिस्प्ले
Realme X3 SuperZoom में 120Hz रिफ्रेश रेट वाली 6.6 इंच की LCD फुल HD+ डिस्प्ले दी गई है। यह डिस्पले  कि 1080x2400 पिक्सल का रेजॉल्यूशन देती है। इसकी डिस्प्ले को कॉर्निंग गोरिल्ला ग्लास 5 की सुरक्षा दी गई है।

कैमरा
फोटोग्राफी के लिए इस फोन में क्वॉड कैमरा सेटअप दिया गया है। इसमें 64 मेगापिक्सल का प्राइमरी सेंसर, दूसरा 5x ऑप्टिकली जूम के साथ 8 मेगापिक्सल का पेरिस्कोप-स्टाइल टेलीफोटो सेंसर, तीसरा 8 मेगापिक्सल का अल्ट्रा वाइड-एंगल और चौथा 2 मेगापिक्सल का मैक्रो लेंस शामिल है। वहीं सेल्फी और वीडियो कॉलिंग के लिए इस फोन में पंच होल ड्यूल कैमरा दिया गया है। इसके फ्रंट में 32 मेगापिक्सल और 8 मेगापिक्सल का अल्ट्रा वाइड-लेंस 
मिलता है।

रैम/ रोम/ प्लेटफार्म/ प्रोसेसर
इस स्मार्टफोन में 12GB LPDDR4x रैम के साथ 256GB का UFS 3.1 स्टोरेज दिया गया है। हालांकि यह फोन माइक्रो SD कार्ड को सपोर्ट नहीं करेगा। ये स्मार्टफोन एंड्रॉयड 10 बेस्ड रियलमी के यूजर इंटरफेस पर काम करता है। बेहतर परफोर्मेंस के लिए इस फोन में ऑक्टा-कोर क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 855+ प्रोसेसर दिया है। वहीं ग्राफिक्स के लिए इस फोन में एड्रेनो 640 GPU के साथ आता है।

Smart Device: Realme ने भारत में Smart TV ​सहित ये डिवाइस किए लॉन्च

बैटरी
पावर के लिए इस फोन 4,200mAh की बैटरी दी गई है, जो 30W डार्ट चार्ज को सपोर्ट करती है।  

कमेंट करें
f6Q93
कमेंट पढ़े
vinay June 07th, 2020 18:36 IST

yes

NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।