दैनिक भास्कर हिंदी: J&K से एयरलिफ्ट किए गए 20 और अलगाववादी, आगरा जेल में रहेंगे

August 9th, 2019

हाईलाइट

  • सरकार ने 20 और अलगाववादियों को जम्मू-कश्मीर से शिफ्ट कर दिया है
  • विशेष विमान से इन अलगाववादियों को एयरलिफ्ट कर आगरा लाया गया
  • गुरुवार को भी 25 अलगाववादियों को आगरा शिफ्ट किया गया था

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। सरकार ने 20 और अलगाववादियों को जम्मू-कश्मीर से शिफ्ट कर दिया है। शुक्रवार को एयरफोर्स के विशेष विमान से इन अलगाववादियों को एयरलिफ्ट कर आगरा लाया गया। इससे पहले गुरुवार को 70 आतंकियों और कट्टर अलगाववादियों को कश्मीर घाटी की विभिन्न जेलों से निकालकर आगरा जेल में शिफ्ट किया था।

अधिकारियों ने कहा कि जिन लोगों का अलगाववादी गतिविधियों में शामिल होने का इतिहास है, उन्हें भारतीय वायुसेना के एक विशेष विमान में कश्मीर घाटी से बाहर ले जाया गया है। इन सभी को आगरा सेंट्रल जेल में रखा गया है। इससे पहले लगभग 25 अलगाववादियों के एक समूह को गुरुवार को विमान के जरिए श्रीनगर से आगरा लाया गया था। इसमें कश्मीर हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मियां कयूम भी थे। क़यूम एक जाने-माने वकील हैं और वह अलगाववादी नेताओं से जुड़े कई मामलों का प्रतिनिधित्व करते रहे हैं।

गौरतलब है कि ऐतिहासिक फैसला लेते हुए केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर को स्पेशल स्टेटस देने वाले आर्टिकल 370 को खत्म कर दिया है। सोमवार को गृहमंत्री अमित शाह ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मंजूरी के बाद संसद में यह प्रस्ताव रखा था। राज्यसभा और लोकसभा से प्रस्ताव पास होने के बाद इसे राष्ट्रपति से भी मंजूरी मिल गई है। 370 को हटाने के बाद जम्मू-कश्मीर को दो भागों में बांटकर केंद्र शासित प्रदेश भी बनाया गया है। एक भाग लद्दाख और दूसरा जम्मू-कश्मीर।

सरकार के इस महत्वपूर्ण फैसले के बाद क्षेत्र में शांति बनी रहे इसके लिए भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किया गया है। कई स्थानीय नेताओं को हिरासत में लिया गया है। गुरुवार को कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद को श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोक लिया गया था। उन्हें वापस दिल्ली लौटा दिया गया था। आशंका जताई जा रही थी कि सरकार के विरोध में विपक्ष के नेता राज्य में विरोध प्रदर्शनों के लिए लोगों को उकसा सकते हैं। जम्मू-कश्मीर में 5 अगस्त से धारा-144 लागू की गई है।