श्रीलंका : भारत में श्रीलंका नागरिकों की घुसपैठ को रोकने के लिए तमिलनाडु पुलिस हाई अलर्ट पर

May 12th, 2022

हाईलाइट

  • श्रीलंकाई लोगों के आने की संभावना

डिजिटल डेस्क, चेन्नई। राजनीतिक और आर्थिक संकट के बाद श्रीलंका नागरिकों की तमिलनाडु में घुसपैठ की संभावना पर तमिलनाडु की तटीय पुलिस हाई अलर्ट पर है। तमिलनाडु के गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि भारत में श्रीलंकाई लोगों के आने की संभावना को लेकर राज्य लगातार केंद्रीय गृह मंत्रालय के संपर्क में है।

हंबनटोटा जेल से भागकर आए 50 कैदियों के समुद्र के रास्ते भारत आने की संभावना पर भी पुलिस सतर्क है। राज्य के गृह विभाग ने तमिलनाडु के तटीय पुलिस को धनुषकोडी, रामेश्वरम और राज्य के अन्य तटीय क्षेत्रों में ग्राम समितियों को कैदियों की उपस्थिति के बारे में पुलिस को सूचित करने के साथ उन्हें सतर्क रहने का भी निर्देश दिया है। हालांकि, पुलिस मुख्यालय में स्थित एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, पुलिस इस संभावना का भी पता लगा रही है कि लिट्टे के कैडर इस अवसर का उपयोग करके भारत में घुसने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ लोगों को अक्टूबर 2021 में गिरफ्तार किया गया था, जब उन्होंने मुंबई में लिट्टे के समर्थकों के एक निष्क्रिय खाते से पैसे निकालने की कोशिश की थी और पूछताछ करने पर पुलिस को सूचित किया था कि वे लिट्टे के संचालन के लिए धन एकत्र कर रहे थे।

तमिलनाडु के गृह विभाग के सूत्रों ने आईएएनएस को बताया कि राज्य पुलिस का तटीय सुरक्षा समूह भारतीय जल सीमा में श्रीलंकाई नागरिकों को भारत में आने के लिए तटरक्षक बल और भारतीय नौसेना के साथ मिलकर काम कर रहा है। राज्य के गृह विभाग ने तमिलनाडु के मछुआरों को अंतरराष्ट्रीय समुद्री सीमा रेखा के पास मछली पकड़ने के दौरान सतर्क रहने का भी निर्देश दिया है।

यह याद किया जा सकता है कि हाल के दिनों में श्रीलंकाई नौसेना अधिकारियों द्वारा तमिलनाडु के कई भारतीय मछुआरों को गिरफ्तार किया गया और जेल में रखा गया और इस दौरान उनकी नौकाओं को भी जब्त किया गया है। द्वीप देश से भारतीय तटों में ड्रग्स, हथियारों और अन्य प्रतिबंधित वस्तुओं की तस्करी को रोकने के लिए पुलिस सतर्क है।

 

 

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.