comScore

5 मार्केट ट्रेंड्स से लाभ उठा सकते हैं ओलिंप ट्रेड फॉरेक्स के ट्रेडर्स

5 मार्केट ट्रेंड्स से लाभ उठा सकते हैं ओलिंप ट्रेड फॉरेक्स के ट्रेडर्स

हाईलाइट

  • 5 ट्रेंड्स का इस्तेमाल करके आप अधिक लाभ कमा सकते हैं
  • समाचार और मार्केट के बीच के संबंध को समझना भी आवश्यक है
  • विदेशी मुद्रा बाजारों में एक दूसरे पर निर्भर करने वाली वस्तुओं में मुद्रा और तेल

डिजिटल डेस्क। मार्केट में बेहतर तरीके से कार्य कर पाने के लिए दुनिया में चल रहे वित्त से संबंधित रुझानों की जानकारी रखना प्रत्येक ट्रेडर के लिए महत्वपूर्ण है। हालांकि अधिकाधिक लाभ के लिए यह भी नाकाफी है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम 5 मार्केट ट्रेंड्स से आपको रूबरू कराना चाहते हैं जिनका इस्तेमाल करके आप अधिक से अधिक लाभ कमा सकते हैं। चूंकि रुझान तेजी से बदल सकते हैं, ऐसे में समाचार और मार्केट के बीच के संबंध को भी समझना आवश्यक है। इसके चलते एक ट्रेडर अधिक सजग रहता है और उसे यह पता चलता रहता है कि कब मार्केट ट्रेंड धीमे हो रहे हैं या विपरीत दिशा में जा सकते हैं।

1. गोल्ड मार्केट
पिछले कुछ समय से गोल्ड को लेकर लोगो में तेजी से रुचि जागी है। इसने हाल ही में $ 1500 अमरीकी डालर प्रति औंस की वेल्यू तक पहुंचा जिसके चलते बड़ी संख्या में ट्रेडर्स के बीच सोने की मांग बढ़ी ताकि वे सुरक्षित और स्थिर वस्तु में पैसा लगा सकें। मई के बाद से सोना 200 डॉलर प्रति औंस से अधिक प्रति औंस पर कारोबार कर रहा है। यह वर्तमान अमेरिकी / चीन व्यापार युद्ध से प्रभावित है जिसमें चीन द्वारा युआन में हेरफेर कर उसके मूल्य को नीचे लाना भी शामिल है। इसमें चिंता की बात यह भी है कि अमेरिकी अर्थव्यवस्था धीमी हो रही है और हाल ही में अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा ब्याज दरों को कम करने का निर्णय लिया गया है। 

यहां हम ओलिंप ट्रेड अकाउंट का चार्ट आपको दर्शा रहे हैं जो कि अगस्त 9 से है और 4 घंटे के अंतराल की जानकारी देता है। चार्ट इस वर्ष के मई माह से शुरु होता है। यहां आप स्पष्ट रूप से बढ़ते हुए ट्रेंड देख सकते हैं कि ट्रेडर्स को सोने में निवेश कर लाभ कमाने का अवसर मिल रहा है। लंबी अवधि में ट्रेड करने वाले ट्रेडर्स मार्केट के ऊपर जाते ट्रेंड्स का इंतजार कर सकते हैं और अधिक पैसा कमा सकते हैं। वहीं प्रतिदिन ट्रेड करने वाले ट्रेडर्स बाउंसेज यानी ऊपर जाते मार्केट का लाभ लेकर 4 से कर 10 प्रतिशत का लाभ प्रतिदिन ले सकते हैं।  

2. ब्रेंट ऑयल
पिछले महीने के कई घटनाक्रमों के चलते ब्रेंट ऑयल की कीमतें अपने निचले स्तर पर पहुंच चुकी हैं। यह ज्यादातर वैश्विक मांग की कमी पर आधारित है, लेकिन यह युआन में बदलाव से भी प्रभावित हुआ था क्योंकि चीन के कई तेल आयात युआन में करने पर विचार किया जा रहा है। सउदी ने तब से घोषणा की है कि वे ओपेक के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे ताकि एक डील के तहत उत्पादन में कटौती कर कीमतों को वापस ऊपर लाया जा सके। जैसा कि आप नीचे दिए गए चार्ट से देख सकते हैं, उत्पादन में कटौती के जिक्र से ही मार्केट में ऊपर जाते ट्रेंड्स देखने को मिलने लगते हैं। $ 55 अमरीकी डालर प्रति बैरल मूल्य होते ही ओपेक हमेशा हरकत में आता है और कई ठोस कदम उठाता है जिससे कीमतों को बढ़ाया जा सके। ट्रेडर्स इस अवसर का फायदा उठा सकते हैं। इस साल यह मूल्य रेंज $ 65 - $ 70 USD हो सकती है। ओलिंप ट्रेड ऐसे ही खास अवसर और मौकों को भूनाने का अवसर देता अपने ट्रेडर्स को जिससे वे तेल कीमतें ऊपर जाकर स्थिर होने से पहले अधिक लाभ कमा सकें। 

3. तेल आधारित मुद्राएँ
विदेशी मुद्रा बाजारों में एक दूसरे पर निर्भर करने वाली वस्तुओं में मुद्रा और तेल हैं। इसमें भी तेल के साथ सबसे करीबी संबंध रूसी रूबल का है। चूंकि रूबल कई साल पहले मुक्त मुद्रा बन गया था इसलिए डॉलर/ रूबल और यूरो / रूबल मुद्रा जोड़े तेल की कीमत के साथ घटते और बढ़ते देखे गए हैं। रूसी सेंट्रल बैंक 62 से 65 रूबल प्रति डॉलर का मूल्य रखना पसंद करता है, ऐसे में तेल की कीमतों में किसी भी महत्वपूर्ण गिरावट से 65 से ऊपर की संख्या जाने पर रूसी उत्पादक ओपेक से संपर्क साधना शुरू कर देते हैं ताकि कीमतों को वापस अपने स्थान पर लाया जा सके। हालांकि ऑयल कार्टेल का आधिकारिक सदस्य रूस नहीं है पर यह समूह द्वारा निर्धारित उत्पादन कोटा के साथ अक्सर सहयोग करता है। स्क्रीनशॉट में आप 65 रूबल स्तर पर प्रतिरोध और 63 स्तर पर समर्थन देख सकते हैं। इसका लाभ उठाने के इच्छुक व्यापारी ऑप्शन ट्रेडिंग का उपयोग कर सकते हैं। इस मुद्रा जोड़ी पर कुछ अच्छा मुनाफा कमाने के लिए ब्रेंट ऑयल की कीमत में बदलाव का फायदा उठाया जा सकता है।

4. बिटकॉइन
बिटकॉइन अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है हालांकि कुछ लोगों ने इस साल की शुरुआत में ऐसी भविष्यवाणी की थी। यह अब कुछ महीनों से बढ़त की ओर है। युआन की गिरावट भी एक कारण है कि लोग डॉलर के विकल्प के रूप में बिटकॉइन को  देख रहे हैं। हालांकि यह विश्वास करना कठिन है कि बिटकॉइन इस साल अप्रैल में $ 4,000 पर था और अभी हाल ही में $ 12,000 पर जाकर रुका। ब्लॉकचैन मुद्रा में वृद्धि, थोड़ी गिरावट, और फिर फिर से वृद्धि की प्रवृत्ति दिखाई देती है। बिटकॉइन में ट्रेड के लिए दो चीजें महत्वपूर्ण हैं- विकल्प और फोरेक्स। इसी कारण ऐसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म की सलाह दी जाती है जो दोनों का उपयोग करता है। पर यह देखने वाली बात है कि अधिकतर क्रिप्टो एक्सचेंजों में दोनों ऑप्शन्स नहीं मिलते हैं। पर इसमें ओलिंप ट्रेड जैसे ब्रोकर एक बेहतर विकल्प हैं जो दोनों सुविधाएँ देते हैं। 

5. अमेरिकी डॉलर कैनेडियन डॉलर (USD / CAD) के मुकाबले
यूएस डॉलर के मुकाबले कनाडाई डॉलर के दो महीने के ठोस लाभ के बाद ट्रेंड्स विपरीत हो गए हैं। अमेरिकी और कनाडाई सरकारों के आर्थिक आंकड़ों के आधार पर यह बदलाव निकट भविष्य के लिए नया मानदंड होगा। यूएस डॉलर अपने हुए शुरुआती नुकसान की भरपाई संभवत: अगले कई हफ्तों कर लेगा। इससे निवेशकों को अच्छा लाभ होने की उम्मीद है। इसी कारण कनाडाई डॉलर के निवेशक जब अपने स्टॉक बेचना शुरू करेंगे तो यह डॉलर के मजबूती के ट्रेंड को और आगे ले जाएगा।

दोनों सरकारों से आने वाली आर्थिक समाचारों को ध्यान में रखने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा त्रैमासिक रिपोर्ट्स न आने से भी निवेशक लंबी अवधि के निवेश में लाभ कमा सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि अमेरिका, मैक्सिको और कनाडा के बीच होने वाले ट्रेड एग्रीमेंट्स पर खान नजर रखी जाए। निवेशक इस मुद्रा जोड़ी से कमाई का लाभ टाइमजोन्स के जरिए भी ले सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि एक ऐसे प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया जाए जो सभी मार्केट्स में निवेश की सुविधा उपलब्ध कराता हो। बाजार की समझ, वित्त से जुड़ी खबरे और बाजार कैसे काम करता है यदि इन कुछ चीजों की जानकारी आपके पास होती है तो आप अच्छे निवेशकर बन अधिक लाभ ले सकते हैं। - 2 Basic Strategies for Trading Forex

Source: ओलिंप ट्रेड

कमेंट करें
6biaH