comScore

 नशेड़ी पुत्र ने पिता की बेरहमी से की हत्या

 नशेड़ी पुत्र ने पिता की बेरहमी से की हत्या

डिजिटलडेस्क, अकोला। बोरगांव मंजू पुलिस थाना अंतर्गत  ग्राम कानशिवणी में  नामदेव शामदेव राऊत (67 ) की बेरहमी से हत्या करने की घटना शुक्रवार की देर रात घटी। शनिवार की सुबह हत्याकांड उजागर होने के पश्चात ग्राम में हड़कम्प मच गया। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस निरीक्षक हरीश गवली अपने सहयोगियों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। पुलिस की छानबीन में ज्ञात हुआ कि नामदेव की हत्या को उसके ही पुत्र चंदू नामदेव राऊत (40  ) ने अंजाम दिया। पुलिस ने घटनास्थल से जिस लोहे की छड़ से हत्या की उसे भी जब्त कर लिया है। पुत्र द्वारा पिता की हत्या करने के बाद वह घटनास्थल से फरार हो गया। जिसकी पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है।

शुक्रवार की रात हुआ था विवाद

ग्रामवसियों के अनुसार शुक्रवार की रात पिता -पुत्र भोजन करने के बाद घर के आंगन में खटिया डालकर सोने की तैयारी कर रहे थे। इसी दौरान दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ। नागरिकों ने मध्यस्थता कर विवाद को खत्म करवा दिया था लेकिन रात में बेटे ने  आंगन में सो रहे अपने पिता को मौत की नींद सुला दी।

नशे का आदि था चंदू

हत्याकांड के बाद वहां पर मौजूद कुछ लोगों ने बताया कि चंदू को नशा करने की आदत थी। जिसे लेकर पिता पुत्र के बीच हमेशा विवाद हुआ करता था। यह हत्याकांड भी नशे को लेकर घटित होने की संभावना है।

डॉग स्कॉड तथा फिंगर एक्सपर्ट ने लिया जायजा

कानशिवणी में घटित हत्याकांड की जानकारी मिलते ही पुलिस विभाग के डॉग स्कॉड तथा फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट को मौका ए वारदात की ओर रवाना किया गया। दल ने घटना स्थल पर मौजूद हत्याकांड से जुड़ी सामग्री का मुआयना कर सबूत एकत्रित किया। वहीं आरोपी की तलाश करने के लिए डॉग की सहायता ली गई।

लाश को आंगन से घर में ले जाकर रखा

पुलिस सूत्रों के अनुसार नामदेव राऊत रात की हत्या घर के आंगन में की गई थी। जिसके पश्चात आरोपी ने उनकी लाश को खींचते हुए मकान के बने कच्चे झोपड़ी में जहां पर मवेशियों के लिए चारा रखा जाता था वहां पर ले जाकर फेंक दिया तथा फरार हो गया। पुलिस ने घटनास्थल से खून के नमूने भी संग्रहित किए हैं।  


 

कमेंट करें
imkUR