comScore

तीन दिनों के बाद आखिरकार महान बांध से मिली अमित सावल की लाश, मित्रों पर गंभीर आरोप

तीन दिनों के बाद आखिरकार महान बांध से मिली अमित सावल की लाश, मित्रों पर गंभीर आरोप

डिजिटल डेस्क,अकोला। अकोला के विख्यात दवा विक्रेता ओम सावल के भतीजे अमित जयप्रकाश सावल ने अकोला से तकरीबन 30 किलोमीटर दूर महान बांध में 24 सितंबर की रात 8 बजे के दौरान कूद कर आत्महत्या कर ली थी। इस बात की जानकारी मिलते ही पिंजर पुलिस ने अमित को तलाश करने के लिए पिंजर के संत गाडगे बाबा आपातकालीन दल को घटना स्थल पर बुलाया था। विगत दो दिनों से दल प्रमुख दीपक सदाफले के मार्गदर्शन में सर्च अभियान चलाया जा रहा था। इसी बीच परिजनों की ओर से सोशल मीडिया पर एक संदेश जारी किया गया था कि अमित सावल गुमशुदा है इसलिए किसी प्रकार की अफवाह न फैलाएं। लेकिन पुलिस को मिली जानकारी के आधार पर संत गाडगे बाबा आपातकालीन दल बांध में तलाश मुहिम लगातार जारी रखे हुए था। आखिरकार गुरूवार को  दल को सफलता मिली। दल ने पानी से अमित का शव पानी से बाहर निकाला। पुलिस ने लाश का पंचनामा कर पोस्टमार्टम करने के लिए सर्वोपचार अस्पताल भेज दिया।

पिता ने थाने में दी शिकायत में यह कहा था 

23 सितंबर को अमित सावल गायब होने के बाद पिता जयप्रकाश सावल ने खदान पुलिस थाने में 24 सितंबर को शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें कहा गया था कि अमित 23 सितंबर की शाम अपनी पत्नी से सोने की चेन लेकर दुकान पर जाने की बात कही थी किंतु वह दुकान पर नहीं गया। जिससे उसे फोन लगाने पर वह फोन रिसिव नहीं कर रहा था। कुछ समय के बाद अमित ने अपने फोन से बहन के नंबर पर बात करते हुए बताया कि वह महान बांध पर है तथा बात करते समय वह रो रहा था बाद में उसने फोन बंद कर दिया था। महान बांध पर अमित होने की जानकारी मिलने के बाद उसकी तलाश में वहां पहुंचे थे जहां पर उसकी दुपहिया वाहन, मोबाइल तथा चप्पल मिली थी जिसके बाद जांच मुहिम चलाई जा रही थी।

मित्रों पर लगाए गंभीर आरोप 

पिता की शिकायत के अनुसार हाल ही में अमित 9 सितंबर 2019 को अपने मित्र इरशाद उर्फ बल्लू, करिश्मा शर्मा, स्वाती राठोड के साथ होटल महाकाली में बैठे हुए थे। उसके बाद से वह दो दिन से घर नहीं आया। इस बारे में इरशाद से बात करने पर वह गुमराह करने वाला जवाब दे रहा था जिससे दबाव बनाने पर उसने बताया कि वह करिश्मा के साथ है। काफी प्रयास के बाद अमित को वापस लाया गया। अमित के मित्रों में मझर नामक युवक भी शामिल है तथा इनके बीच मित्रता के साथ  आर्थिक लेनदेन भी है। जिसके चलते अमित हमेशा मानसिक दबाव में रहता था। जिससे अमित के लापता होने में इन मित्रों पर संदेह है

पुलिस की जांच रहस्य से हटायेगी पर्दा 

गुमशुदा अमित सावल की लाश मिलने के बाद शोक की लहर के साथ जिले में हड़कम्प मच गया है। अमित के मित्रों पर पिता द्वारा लगाए गए गंभीर आरोप के बाद चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। अमित किन समस्याओं से परेशान था ? किसी के दबाव में आकर तो उसने आत्महत्या तो नहीं की। उसे इस कदर तो प्रताडित तो नहीं किया गया कि मौत के अलावा उसके पास कोई विकल्प नहीं रह गया था ऐसे कई सवाल है जिनके जवाब पुलिस की जांच में उजागर होंगे। 

कमेंट करें
LzBnt