comScore

BIHAR: सरकार बनाने की प्रक्रिया शुरू, नीतीश कुमार ने CM पद से इस्तीफा दिया, राज्यपाल से विधानसभा भंग करने की सिफारिश


डिजिटल डेस्क, पटना। नीतीश कुमार ने शुक्रवार को राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात के दौरान कार्यवाहक सीएम के पद से इस्तीफा सौंप दिया है। इसके साथ ही उन्होंने राज्यपाल से मौजूदा विधानसभा को भंग करने की सिफारिश भी की। इसके साथ ही अब नई सरकार के गठन की प्रक्रिया शुरू होगी। 15 नवंबर को एनडीए की बैठक होगी जिसमें NDA का नेता चुना जाएगा। 

राज्यपाल ने इस्तीफा स्वीकार कर लिया है और नीतीश कुमार को नए सरकार के गठन होने तक कार्यवाहक मुख्यमंत्री के रूप में काम जारी रखने को कहा है। अब नवनिर्वाचित एनडीए विधायक रविवार को मिलेंगे और औपचारिक रूप से नीतीश कुमार को विधायक दल का नेता चुना जाएगा। रविवार दोपहर 12:30 बजे यह बैठक होगी, जहां आगे के सभी निर्णय लिए जाएंगे।

सरकार के गठन के सभी बिंदुओं पर होगी चर्चा
NDA की बैठक में सरकार बनाने के सभी पॉइंट्स पर बात होगी। इस बार JDU से ज्यादा सीटें लाकर भाजपा बड़े भाई की भूमिका में है, इसलिए सरकार में भाजपा के कितने मंत्री होंगे इस पर सहमति बनाने की कोशिश होगी। बैठक में इस पर भी चर्चा होगी कि हम और VIP पार्टी के कितने मंत्री होंगे, सरकार में उनकी कितनी भूमिका होगी। 

नीतीश कुमार सोमवार को ले सकते हैं शपथ
नीतीश कुमार अगले सप्ताह चौथे कार्यकाल के लिए बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं, लेकिन शपथ ग्रहण की तिथि को अभी अंतिम रूप नहीं दिया गया है।  राजनीतिक हलकों में अटकलें लगाई जा रही हैं कि वह सोमवार को शपथ लेंगे। उसी दिन 'भैया दूज' त्योहार मनाया जाएगा, जिसे शुभ दिन माना जाता है। नीतीश के एक करीब सहयोगी ने कहा कि वे अगले सप्ताह चौथे कार्यकाल के लिए बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं, लेकिन तिथि को अभी तक अंतिम रूप नहीं दिया गया है।

नीतीश कुमार को दोबारा शपथ ग्रहण लेने से पहले उन्हें राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंपना होगा। राजग के नवनिर्वाचित विधायकों की औपचारिक बैठक अभी नहीं हुई है और राजग ने उन्हें अपना नेता औपचारिक रूप से घोषित नहीं किया है। हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भाजपा के शीर्ष नेताओं ने नीतीश को मुख्यमंत्री के रूप में समर्थन दिया है। इस बीच, मुख्य निर्वाचन अधिकारी एच आर श्रीनिवास ने गुरुवार को राजभवन जाकर विधानसभा चुनाव में विजयी उम्मीदवारों की सूची राज्यपाल को सौंपी।

एक दिन पहले नीतीश ने कहा था- जनता मालिक है
गुरुवार शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि जनता मालिक है, अभी फाइनल नहीं हुआ है। सभी घटक दल आपस में बातचीत करेंगे। विधानमंडल दल की बैठक उसके बाद होगी। बातचीत के बाद ही तय होगा कि कैसे क्या करना है। मुख्यमंत्री को लेकर फैसला NDA की बैठक में होगा। हमारा अभियान पूरे NDA के लिए था, लेकिन कैंडिडेट नहीं होने के बावजूद सिर्फ हमारी ही सीटों पर ढूंढ़-ढूंढ़कर उम्मीदवार खड़े कर नुकसान पहुंचाया गया।

कमेंट करें
dYvry