• Dainik Bhaskar Hindi
  • State
  • Bhupesh Baghel says The purpose of the state government's schemes to make the general public financially empowered

छत्तीसगढ़: आमजनता को आर्थिक रूप से सशक्त बनाना राज्य सरकार की योजनाओं का उद्देश्य : भूपेश बघेल

March 1st, 2022

डिजिटल डेस्क, रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से आमजनता को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए विशेष योजनाएं बनाई हैं। ये योजनाएं आज विकास के छत्तीसगढ़ मॉडल के रूप में पूरे देश में चर्चा का विषय बनी हुई है।

छत्तीसगढ़ में न सिर्फ किसानों, बल्कि सभी वर्गाें के हितों का ध्यान रखा जा रहा है। किसानों, महिलाओं, युवाओं सहित व्यापार और उद्योग जगत को भी नई सहूलियतें दी गई। श्री बघेल आज दुर्ग जिले के पाटन के ठाकुराईन टोला में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। 

 मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले भूमिहीन किसानों के लिए भी योजना आरंभ की गई है। इसके तहत भूमिहीन श्रमिकों को राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत साल में 6000 रुपये की मदद दी जा रही है।

सांसद श्री राहुल गांधी ने भी इसकी प्रशंसा की है। उन्होंने इसकी राशि और बढ़ाने के लिए कहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में ग्रामीण विकास के मॉडल को समझने केंद्रीय टीम भी आने वाली है।

अवारा मवेशियों की समस्या को देखते हुए छत्तीसगढ़ में गौठान योजना बनाई गई, जो सफल भी रही। उत्तर प्रदेश में अवारा मवेशियों की समस्या वहाँ बहुत बड़ी समस्या है और वहां भी इस समस्या से निजात पाने के लिए छत्तीसगढ़ में किए गए नवाचारों की ओर दृष्टि गई है। 

मुख्यमंत्री ने ठाकुराईन टोला में आयोजित कार्यक्रम में 30 करोड़ 63 लाख रूपए की लागत से विभिन्न निर्माण और विकास कार्याें की सौगात दी। इनमें मुख्य रूप से 19.40 करोड़ रूपए की लागत से लक्ष्मण झूला, 2.75 करोड़ की लागत से खारुन नदी का तटबंध और सोनपुर में 1.40 करोड़ की लागत से ग्लेजिंग यूनिट का भूमिपूजन किया।

मुख्यमंत्री ने ठाकुराईन टोला में ही क्रेडा की सामुदायिक सिंचाई योजना का लोकार्पण भी किया। इसके अलावा उन्होंने 6 करोड़ 86 लाख के स्वास्थ्य से संबंधित विभिन्न कार्यों की सौगात दी।

इनमें झीठ में दो करोड़ रुपए से बनने वाले मॉडल रूरल हेल्थ रिसर्च यूनिट, पाटन में 2.2 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले स्टाफ क्वार्टर का भूमिपूजन, इसके अलावा पाटन अस्पताल में 1.30 करोड़ रूपए के ऑक्सीजन प्लांट, झीठ में 10 बिस्तरों के आइसोलेशन वार्ड,  बेल्हारी अचानकपुर और जामगांव एम के उप स्वास्थ्य केंद्रों के भवन का लोकार्पण भी किया।

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर पाटन से छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण मण्डल की नोनी सशक्तिकरण योजना का शुभारंभ करते हुए 16 हितग्राही बेटियों को 20-20 हजार रुपये के चेक सौंपे। इस मौके पर उन्होंने श्री दुखितराम को ट्राइसाइकिल भी प्रदान किया।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए आगे कहा कि क्षेत्र के लोगों की लंबे समय से मांग थी कि भगवान भोलेनाथ के दर्शन हर समय सुलभ हो सके आज यह सपना पूरा होने की दिशा में कार्य आगे बढ़ गया है।

आज यहां लक्ष्मण झूला के निर्माण के लिए नींव रखी जा चुकी है। गांव के बुजुर्गों और युवाओं के चेहरे पर जो खुशी है उससे मुझे बहुत संतोष पहुंचा है। उन्होंने कहा कि ठकुराइन टोला में महादेव का मंदिर निषाद समाज ने बनाया है और इस मंदिर से उनकी गहरी भावनाएं जुड़ी हुई हैं। इस मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा संत कवि स्वर्गीय पवन दीवान ने की है।

लक्ष्मण झूला बन जाने से अब यहां श्रद्धालुओं को काफी सुविधा होगी। साथ ही पर्यटन केंद्र के रूप में भी ठकुराइन टोला का विकास होगा। लक्ष्मण झूले के साथ ही यहां गार्डन और तटबंध बनेगा। उन्होंने कहा कि सिकोला एवं ठकुराइन टोला के किसानों को राहत मिले इसके लिए सोलर सामुदायिक योजना के माध्यम से तालाब भराई योजना की शुरुआत की गई।

इस क्षेत्र के किसान नदी के बिल्कुल किनारे होने के बावजूद वे बेहतर सिंचाई नहीं कर पा रहे थे। ठकुराइन टोला और सिकोला में तालाब भरे जा सकेंगे। इसी प्रकार सोनपुर में ग्लेज़िंग यूनिट से अंचल के कुम्हारों के साथ ही अन्य लोगों के लिए रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के लिए कर्जमाफी, समर्थन मूल्य पर धान खरीदी सहित खेती-किसानी को आगे बढ़ाने के लिए नई योजनाएं शुरू की गई है। नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी योजना के माध्यम से ग्रामीण विकास तेजी से बढ़ा है।

गौठान और सोलर पम्प के माध्यम से सिंचाई सुविधा देने के लिए राज्य सरकार ने अधोसंरचना विकसित करने का काम राज्य सरकार ने किया है। इनका लाभ लेने के लिए ग्रामीणों को इसे सुचारू रूप से चलाना होगा।

उन्होंने कहा कि गौठान को इंडस्ट्रियल पार्क के रूप में विकसित किया जा रहा है। छोटी बातों का ध्यान रखकर किसानों और ग्रामीणों की आय बढ़ाने के लिए काम किए जा रहे हैं।

गौठान में तेलघानी बनाई जा रही है, तेलघानी बोर्ड के माध्यम से इस दिशा में कार्य किया जा रहा है। गांव में चरोटा, नीम, करंज बहुतायत मात्रा में है इन से तेल निकाला जाता है लेकिन घानी नहीं होने की वजह से लोग उससे लाभ नहीं उठा पा रहे थे। सरसों का अब यही उत्पादन कर तेल भी पेर सकते हैं। 

लक्ष्मण झूले से पुरखों का सपना हुआ पूरा 

मुख्यमंत्री को ग्रामीणों ने लक्ष्मण झूले के भूमिपूजन के लिए बधाई दी। ग्रामीणों ने कहा कि यह पुरखों का देखा हुआ सपना था, जो अब आपकी वजह से पूरा हो सका।

बुजुर्ग ग्रामीण चिंताराम निषाद ने मुख्यमंत्री से कहा कि उन्होंने सभी बुज़ुर्गों का सपना पूरा कर दिया। इस मौके पर उपस्थित निषाद समाज के सदस्यों ने लक्ष्मण झूले के भूमिपूजन के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम में भवन एवं संनिर्माण कर्मकार मंडल के अध्यक्ष श्री सन्नी अग्रवाल, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के अध्यक्ष श्री जवाहर वर्मा, जिला मंडी बोर्ड के अध्यक्ष श्री अश्विनी साहू, अंत्यावसायी निगम की उपाध्यक्ष सुश्री नीता लोधी, जनपद अध्यक्ष श्रीमती राम बाई सिन्हा, नगर पंचायत अध्यक्ष श्री भूपेंद्र कश्यप, माटी कला बोर्ड से बालम चक्रधारी के अलावा निषाद समाज से श्री देव कुमार निषाद एवं चिंताराम निषाद भी उपस्थित थे।