दैनिक भास्कर हिंदी: आरोप: तेजस्वी यादव बोले- महागठबंधन के पक्ष में जनादेश, लेकिन चुनाव आयोग ने NDA के पक्ष में 

November 12th, 2020

डिजिटल डेस्क, पटना। बिहार विधानसभा चुनावों में राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव ने नतीजों को लेकर चुनाव आयोग पर बड़ा आरोप लगाया है। गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि जनादेश महागठबंधन के पक्ष में आया है, लेकिन चुनाव आयोग ने NDA के पक्ष में नतीजे बताए हैं। उन्होंने कहा कि इस चुनाव में उनकी पार्टी सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है।

उन्होंने कहा कि, यह पहली बार नहीं हुआ है, जब हमारे पक्ष में जनादेश आया। इससे पहले 2015 में जब महागठबंधन बना था, तब वोट हमारे पक्ष में थे। लेकिन बीजेपी चोर दरवाजे से सरकार में आ गई थी।

वित्त मंत्री निर्मला ने किया किसानों से लेकर मकान खरीदारों तक को राहत का एलान

लगाए ये आरोप
तेजस्वी यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि, महागठबंधन को जनता का आर्शीवाद मिला है। लेकिन लेकिन राजग ने धन, छल और बल के जरिए चुनावी जीत हासिल की। उन्होंने ने पोस्टल बैलट की गिनतियों में फ्रॉड का भी आरोप लगाया और पुनर्मतगणना की मांग की। 

उन्होंने कहा कि, चुनाव आयोग से हम उन सभी विधानसभा क्षेत्रों में डाक मतपत्रों की दोबारा गिनती किए जाने की मांग करते हैं, जहां इनकी गिनती शुरू में नहीं अंत में की गई।

LAC पर तनाव कम करने को राजी हुए भारत और चीन

कोर्ट जाने की बात कही
विपक्षी दल के नेता ने कहा कि, मेरी सीट पर भी तीन बजे तक प्रक्रिया पूरी हुई थी, लेकिन नतीजों का सर्टिफिकेट आधी रात को दिया गया। तेजस्वी ने दावा किया कि उन्हें करीब 130 सीटें मिली हैं, अगर जरूरत पड़ती है तो वो कोर्ट भी जाने को तैयार हैं।

उन्होंने कहा कि, आज नीतीश कुमार तीसरे नंबर पर आ गए हैं, बिहार के लोगों ने जो जनादेश दिया वो बदलाव का है। तेजस्वी ने कहा कि यदि नीतीश कुमार की नैतिकता बची है तो उन्हें मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए अपना लोभ छोड़ देना चाहिए।