comScore

हरियाणा के मुख्यमंत्री बोले- गांवों में कोरोना के प्रसार का एक कारण किसान आंदोलन भी

हरियाणा के मुख्यमंत्री बोले- गांवों में कोरोना के प्रसार का एक कारण किसान आंदोलन भी

डिजिटल डेस्क, चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने गांवों में कोरोना के प्रसार के लिए किसानों के आंदोलन को जिम्मेदार बताया है। खट्टर ने कहा कि धरना स्थलों से आंदोलन से जुड़े लोगों की आवाजाही से गांवों में संक्रमण फैल रहा है और कुछ गांवों में औसत संख्या से अधिक मौतें हुई हैं।

खट्टर ने आंदोलन को संक्रमण फैलने के पीछे के कारकों में से एक बताते हुए कहा, हजारों लोग एक जगह इकट्ठा होते हैं, आपस में मिलते हैं और कोविड के प्रोटोकॉल का पालन नहीं करते। उन्होंने दावा किया कि कुछ गांवों में तो पूरे साल में जितनी मौतें होती हैं, उनमें हाल फिलहाल में उतनी मृत्यु हुई हैं। खट्टर ने पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा की भी आलोचना की और कहा कि विपक्ष के नेता कोविड पर सर्वदलीय बैठक की मांग कर रहे हैं, पर उन्होंने एक बार भी किसानों से अपना आंदोलन स्थगित करने की अपील नहीं की।

बता दें कि केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ 26 मई 2020 से किसान आंदोलन कर रहे हैं। किसान चाहते हैं कि सरकार इन तीनों कानूनों का वापस ले। कई दौर की बातचीत के बाद भी अब तक सरकार और किसानों के बीच सहमति नहीं बन पाई है। वहीं हरियाणा में कोरोना के मामलों की बात करे तो रविवार को राज्य में कोरोना के 1452 नए केस सामने आए, जबकि 89 लोगों की मौत हो गई। राज्य में फिलहाल 21087 एक्टिव केस हैं। 

हरियाणा सरकार ने कोरोना लॉकडाउन 7 जून तक बढ़ाने का फैसला किया है। हालांकि इस बार कुछ परिवर्तन किए गए हैं। दुकानें खुलने का समय भी बढ़ा दिया गया है। अब दुकानें सुबह 9 बजे से दोपहर 3 बजे तक खुल सकेंगी। हालांकि दुकानदारों के लिए ऑड-ईवन का फॉर्मूला भी लागू किया गया है, जिसका पालन करना जरूरी होगा। 15 जून तक शिक्षण संस्थान बंद रहेंगे। रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा।

कमेंट करें
taiJL