comScore

मुझे कोरोना हो गया है छूना मत कहा और कमरे में जाकर फांसी लगा ली

मुझे कोरोना हो गया है छूना मत कहा और कमरे में जाकर फांसी लगा ली

डिजिटल डेस्क, नागपुर। मुझे कोरोना हो गया है, कोई हाथ मत लगाओ, यह कहते हुए एक 40 वर्षीय व्यक्ति ने अपने कमरे में जाकर फांसी लगा लगाकर आत्महत्या कर ली। एक अन्य घटना में युवक ने स्लैब में रस्सी बांधकर  खुदकुशी कर ली। मृतकों का नाम संजय सूर्यकांत हाड़के (40)  और सागर जगन पवार (27)  है। दोनों प्रकरण में आत्महत्या का कारण अज्ञात है। घटना एमआईडीसी व अंबाझरी क्षेत्र में हुई।

खुदकुशी से पूर्व शराब पी
 पुलिस सूत्रों के अनुसार संजय हाड़के अपने परिवार के साथ जयताला स्थित नालंदा बौद्ध विहार के पास रहता था। परिवार में मां, पिता, पत्नी, बेटा, बेटी और एक भाई है। एमआईडीसी थाने के सहायक पुलिस उप-निरीक्षक विजय नेमाडे ने बताया कि, संजय एमआईडीसी में  किसी कंपनी में काम करता था। लॉकडाउन के चलते उसका कामकाज बंद हो गया था। वह नागपुर में काम करके अपने परिवार की परवरिश कर रहा था। 27 जून को  सुबह करीब 11 बजे संजय ने शराब पी और उसके बाद अपने परिजनों से कहने लगा कि, मुझे छुओ मत, मुझे कोरोना हो गया है। 
 
युवक ने दे दी जान
दूसरी घटना अंबाझरी क्षेत्र में हुई।  अंबाझरी क्षेत्र के नया फुटाला गली नं.-3 निवासी सागर जगन पवार ने 27 जून को रात करीब 11.30 बजे रस्सी से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उसने मकान की पहली मंजिल पर स्लैब में लगे हुक में रस्सी बांधकर फांसी लगाई। परिजनों ने उसे फंदे से  तुरंत नीचे उतारा और मेडिकल अस्पताल ले गए, जहां प्राथमिक जांच में डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने पर अंबाझरी पुलिस ने फिलहाल  आकस्मिक मृत्यु का मामला दर्ज कर लिया है। संबंधित थाने की  पुलिस मामले की जांच कर रही है। 
 

कमेंट करें
RUw9N