दैनिक भास्कर हिंदी: सांसदी छोड़कर बोले पटोले, गुजरात जाकर जनता को असलियत बताऊंगा

December 9th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। गुजरात चुनाव में पहले दौर की वोटिंग से पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है। महाराष्ट्र के गोंदिया-भंडारा लोकसभा सीट से सांसद नानाभाऊ पटोले ने लोकसभा और पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। पटोले केंद्र सरकार की नीतियों और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से काफी दिनों से नाराज चल रहे थे। माना जा रहा है कि पटोले कांग्रेस में जा सकते हैं। इस्तीफा देने के बाद पटोले ने दिल्ली में कांग्रेस नेता मोहन प्रकाश से मुलाकात की है। बता दें 2014 के लोकसभा चुनाव में नानाभाऊ पटोले एनसीपी के दिग्गज नेता प्रफुल्ल पटेल को शिकस्त देकर सांसद बने थे।

गौरतलब है कि नानाभाऊ पटोले महाराष्ट्र के भंडारा-गोंदिया लोकसभा सीट से बीजेपी के सांसद थे। पटोले पिछले काफी समय से बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से नाराज चल रहे थे। पटोले का आरोप था कि मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर प्रधानमंत्री के सामने किसानों के मुद्दे उठाए थे, जिसे अनसुना किया गया था, तब ही से वो नाराज बताए जा रहे थे। इसके अलावा पटोले ने GST, नोटबंदी को लेकर भी सरकार पर निशाना साधा था।

11 को अहमदाबाद में राहुल के साथ करेंगे मंच साझा

BJP की सदस्यता व लोकसभा से इस्तीफा दे चुके पटोले अहमदाबाद में 11 दिसंबर को राहुल गांधी की रैली में उनके साथ मंच साझा करेंगे। कयास हैं कि यहीं पटोले कांग्रेस की सदस्यता भी ले सकते हैं। वैसे भी बीजेपी छोड़ने के बाद पटोले ने आरोप लगाया है कि वो गुजरात जाकर जनता को पीएम मोदी की असलियत बताएंगे। पटोले ने आरोप लगाया है कि बीजेपी में बिल्कुल भी लोकतंत्र नहीं है। नरेंद्र मोदी और अमित शाह को सवाल सुनना पसंद नहीं है।

 

 

पहले भी उठाए थे सवाल 

नाना पटोले ने अपनी ही सरकार के खिलाफ नाराजगी जताई थ। केंद्र व राज्य सरकार को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा था कि दिल्ली में महाराष्ट्र की स्थिति भिखारी जैसी लग रही है। दिल्ली वालों का मन छोटा है। केंद्र से महाराष्ट्र को  पर्याप्त विकास निधि नहीं मिल पा रही है। यह भी लगने लगता है कि केंद्र से विकास निधि लाने की क्षमता महाराष्ट्र के शासनकर्ताओं में कम है। 
 

'पीएम को सवाल पूछना पसंद नहीं'


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी उन्होंने यह कहकरअसंतोष जताया था कि प्रधानमंत्री को किसानों से संबंधित बैठक में वास्तविकता बताई तो वे मुझ पर भड़क गए। प्रधानमंत्री को सुनने की आदत ही नहीं है। पटोले ने यह भी कहा कि फिलहाल मैं पार्टी में हिटलिस्ट में हूं, लेकिन किसी से घबराता नहीं हूं। केंद्र के मंत्री डर के वातावरण में रहते हैं। 

 



कौन है नाना पटोले ?

भारतीय जनता पार्टी के नानाभाऊ पटोले भारत की 16वीं लोक सभा के सांसद बने। 2014 के चुनावों में वे महाराष्ट्र के भन्डारा-गोंदिया से तत्कालीन यूपीए सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल पटेल को पराजित कर निर्वाचित हुए। वे भारतीय जनता पार्टी के लोकसभा सांसद बने। प्रधानमंत्री दत्तक ग्राम योजना अर्थात किसी गांव को गोद लेकर उसका समग्र विकास करने के लिए नानाभाऊ ने तुमसर तहसील के बघेड़ा गांव को गोद लिया।