मुनगंटीवार ने कहा: तीन माह में शुरू करें चंद्रपुर के विमानतल का निर्माण कार्य

July 7th, 2022

डिजिटल डेस्क,  चंद्रपुर । चंद्रपुर जिले का विकास तेज करने के लिए विमानतल का निर्माणकार्य तीन माह के भीतर शुरू करने के आदेश पूर्व वित्तमंत्री व विधायक  सुधीर मुनगंटीवार ने दिए। आदिवासी बहुल और नक्सलग्रस्त जिले के रूप में पहचाने जानेवाले चंद्रपुर जिले के औद्योगिक विकास को बढ़ावा दिया जाना चाहिए, इस दृष्टि से व दुनिया भर से पर्यटकों के आकर्षण और बाघों के जिले के रूप में पहचाने जाने वाले चंद्रपुर जिले के मौजा विहिरगांव व मूर्ति में प्रस्तावित विमानतल का काम होना जरूरी है। इसके लिए सभी आवश्यक प्रशासनिक स्वीकृतियां तत्काल पूरी की करने के निर्देश मुनगंटीवार ने बुधवार को महाराष्ट्र विमानतल विकास कंपनी के अधिकारियों को दी। मौजा विहिरगांव और मूर्ति में विमानतल बनाने के लिए 24 अप्रैल 2016 को प्रशासनिक स्वीकृति प्राप्त हुई थी। इसके लिए सरकार ने 46 करोड़ रुपए मंजूर किए थे। इसमें से 41 करोड़ रुपए भूमि अधिग्रहण के लिए और 5 करोड़ रुपए प्रकल्प व्यवस्थापन सलाहकार के लिए प्रावधान किया गया था। विमानतल के लिए कुल 840 एकड़ जमीन की जरूरत थी। 

पहले चरण में 720 एकड़ भूमि का अधिग्रहण कर 2500 मीटर के रनवे का काम निर्माणाधीन होगा और दूसरे चरण के बाद रनवे की लंबाई 3000 मीटर होगी। यह  प्रस्ताव है। लेकिन प्रशासनिक मंजूरी के बाद भी कई वर्षों से इस प्रकल्प की ओर राज्य सरकार ने अनदेखी की। विमानतल के काम को हो रही देरी को गंभीरता से लेते हुए विधायक सुधीर मुनगंटीवार ने बुधवार 6 जुलाई को विधान भवन में संबंधित अधिकारियों की बैठक कर विस्तृत चर्चा की। प्रकल्प से जुड़ी कठिनाइयों को समझा, वन विभाग से जुड़े मुद्दों पर भी बैठक में सकारात्मक चर्चा हुई। महाराष्ट्र सरकार ने चंद्रपुर विमानतल के काम पर काम रोक दिए जाने का एहसास होने पर तुरंत रोक हटाकर कार्य में तेजी लाने की सूचना विधायक मुनगंटीवार ने अधिकारियों को दी। आनेवाले अक्टूबर माह में विमानतल का भूमिपूजन करने के लिए उचित कदम उठाने को कहा। इस बैठक के वन विभाग के प्रधान सचिव बी. वेणूगोपाल रेड्डी, मुख्य वनसंरक्षक तथा सहसचिव रविकिरण गोवेकर, चंद्रपुर के जिलाधिकारी अजय गुल्हाने, महाराष्ट्र विमानतल विकास कंपनी के मंगेश कुलकर्णी, चंद्रपुर के मुख्य वनसंरक्षक प्र. ज. लोणकर आदि अधिकारी उपस्थित थे।