दैनिक भास्कर हिंदी: दोहरी मार झेल रही नागपुर की यह बस्ती, कोविड-19 के साथ पीलिया की भी मार

May 13th, 2020

डिजिटल डेस्क, नागपुर।  नागपुर की पार्वती नगर बस्ती दोहरी मार झेल रही है। कोरोना से 1 मौत और संक्रमित मरीज मिलने के बाद यहां पीलिया ने पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। कोरोना के कारण  लॉकडाउन लगातार जारी है। इसमें लोग कई दिनों से घर में हैं। पूरा परिवार एक साथ है, इस कारण पानी का उपयोग भी बढ़ गया है। साथ ही गर्मी के कारण भी समस्या बढ़ गई है। एेसे समय में नागरिकों को पानी की आपूर्ति नहीं हो रही है, हो भी रही है तो कहीं पर पानी में कीड़े निकल रहे हैं, तो कहीं कम दबाव में आ रहा है। यह समस्या तब विकराल हुई जब पूरा क्षेत्र प्रतिबंधित कर दिया गया आैर बाहर से भी पानी के टैंकर और अन्य सुविधा बंद हो गई।

एक बोरवेल से चला रहे काम
हाल ही में पार्वती नगर से कोरोना संक्रमित मरीज मिलने से क्षेत्र में टेंशन बढ़ गई थी। इसके कारण आसपास के क्षेत्रों को भी पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है। सभी का आना जाना पूरी तरह बंद है। रामेश्वरी, जयभीम नगर, काशीनगर और मुख्य पर्वती नगर में ही पानी की समस्या बनी हुई है। यहां के लोग घर के बाहर भी नहीं निकल पा रहे हैं। नागरिकों की शिकायत है कि दबाव कम होने से पानी भर ही नहीं पाते हैं। कुछ इलाकों पर हफ्तों से पानी नहीं आया है। वहां पहले टैंकर से काम चल रहा था, लेकिन अब क्षेत्र प्रतिबंधित होने के कारण वह भी बंद हो गया है। बोरवेल से पानी लेकर कई घरों में काम चल रहा है। 

छानने के बाद भी निकल रहे कीड़े
पानी में कीड़े निकल रहे हैं। छान कर भरने के बाद भी छोटे कीड़े निकल रहे हैं। क्षेत्र के कई लोगांे को और मुझे भी पीलिया हो गया, हमें बाद में समझ आया कि पानी के कारण यह समस्या हो रही है। पानी को कितना उबाल कर पीएं। गैस खत्म हो गई तो वह भी आसानी से नहीं मिल पाती।  -प्रतीक्षा सोनटक्के, जयभीम नगर

जोन में की शिकायत 
सात दिन से पानी नहीं आ रहा है। मैंने हनुमान नगर जोन में शिकायत की थी। इसके बाद कुछ हुआ नहीं। कुछ लोग काम करने आए थे, लेकिन कोइ सुधार नहीं हुआ। -राकेश परिहार, रामेश्वरी

हमारे पास अभी इस तरह की कोई शिकायत नहीं आई है। अब हम वहां के क्षेत्रों में जाकर जांच करेंगे। कुछ भी समस्या होती है, तो उसका हल निकालेंगे। हम शिकायतों पर लगातार कार्य कर रहे हैं।
-सचिन द्रवेकर, जनसंपर्क अधिकारी, ओसीडब्ल्यू

प्रतिबंधित क्षेत्र होने से स्थिति खराब 
पानी बहुत कम आ रहा है। पिछले 15-20 दिन से इसी तरह स्थिति बनी हुई है। पानी की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। क्षेत्र प्रतिबंधित होने के कारण परेशानी अब और बढ़ गई है।  -आशा गोंडाने, काशीनगर