comScore

अजब-गजब: जब अपराधियों को मिली ऐसी सजा, जिन्हें सुन आप भी रह जाएंगे हैरान

अजब-गजब: जब अपराधियों को मिली ऐसी सजा, जिन्हें सुन आप भी रह जाएंगे हैरान

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दुनियाभर के देशों में अपराधों को रोकने के लिए अलग- अलग सजाओं का प्रावधान है। भले ही फिर अपराधी छोटा हो या बड़ा, लेकिन कोई ना कोई सजा उसके लिए जरुर बनी है। अब तक आपने ऐसी कई सजाओं के बारे में सुना भी होगा और मिलते देखा भी होगा। लेकिन क्या आपने कभी किसी ऐसी सजा के बारे में सुना है, जो आपको बेहद ही अजीबोगरीब लगी हो।

यदि नहीं सुनी है तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसी ही सजाओं के बारे में। जिनके बारे में शायद ही आपने पहले कभी सुना होगा। वहीं इन सजाओं के बारे में जानकार आप भी हैरान रह जाएंगे, तो आइए जानते हैं इन सजाओं के बारे में...

भगवान शंकर की वो रहस्यमयी गुफा, जिसमें छुपा है कलयुग के अंत का रहस्य

10 साल तक चर्च जाने की सजा
घटना साल 2011 की है। अमेरिका के ओकलाहोमा में एक 17 वर्षीय टाइलर एलरेड शराब पीक गाड़ी चला रहे थे, इस दौरान उनकी गाड़ी से हुई दुर्घटना में एक दोस्त की मौत हो गई। उस समय टाइलर हाई स्कूल में पढ़ते थे, इसलिए अदालत ने उन्हें हाई स्कूल और ग्रेजुएशन खत्म करने के अलावा साल भर के लिए ड्रग, शराब और निकोटिन टेस्ट करवाने कीसजा सुनाई। इतना ही नहीं अदालत ने उन्हें 10 साल तक चर्च जाने की सजा भी सुनाई थी। 

डिज्नी का बाम्बी कार्टून देखने की सजा
अमेरिका के ही मिसौरी में रहने वाले डेविड बेरी नामक शख्स ने साल 2018 में सैकड़ों हिरणों का शिकार किया। हिरण के शिकार के जुर्म में दोषी पाए जाने पर अदालत ने उस शख्स को ऐसी सजा सुनाई, जिस पर हर किसी को आश्चर्य हुआ। दरअसल, इस शख्स को 
अदालत ने एक साल तक जेल में रहकर महीने में कम से कम एक बार डिज्नी का बाम्बी कार्टून देखने की सजा सुनाई थी। 

एक गधे के साथ मार्च करने की सजा
यह घटना साल 2003 की है और यह भी अमेरिका की ही है। शिकागो में रहने वाले दो लड़कों ने क्रिसमस की शाम चर्च से ईसा मसीह की मूर्ति चुराई ली। इसके बाद इन लड़कों ने उस मूर्ती को नुकसान भी पहुंचाया था। इस जुर्म का दोषी पाए जाने पर दोनों को 45 दिन के लिए जेल की सजा सुनाई गई थी। इतना ही नहीं इस सजा में उन्हें अपने गृहनगर में एक गधे के साथ मार्च करने का भी आदेश दिया गया था।

यह है दुनिया का सबसे महंगा अंगूर, इसके एक गुच्छे की कीमत होती है 7.5 लाख रुपए

अपने पैरों पर खड़ा होने की सजा
यह मामला स्पेन के एंडालूसिया का है। यहां रहने वाले एक 25 वर्षीय युवक के माता-पिता ने उसे पॉकेट मनी देनी बंद कर दी थी। इसके बाद उसने शिकायत की और मामला अदालत तक पहुंच गया। यहां अदालत ने उल्टे उसी को सजा सुना दी। आदलत ने उस लड़के को अगले 30 दिन के अंदर उसे उसके माता-पिता का घर छोड़ने को कहा। इतना ही नहीं इन दिनों में उसे अपने पैरों पर खड़ा होने के लिए आदेशित भी किया।

कमेंट करें
XseNz