दैनिक भास्कर हिंदी: सोशल मीडिया पर किरकिरी के बाद अडानी की कंपनी ने बंद किए गांगुली के ‘सेहतमंद तेल’ वाले विज्ञापन

January 6th, 2021

हाईलाइट

  • Adani विल्मर के हेल्दी तेल का विज्ञापन करते हैं गांगुली
  • गांगुली की तबीयत खराब होने के बाद इसका बना मजाक
  • सोशल मीडिया पर किरकिरी के बाद कंपनी ने रोक ऐड

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिग्गज उद्योगपति गौतम अडानी की कंपनी Adani Wilmar ने अपने फॉर्च्यून राइस ब्रान कुकिंग ऑयल के उन विज्ञापनों पर रोक लगा दी है, जिनमें टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और बीसीसीआई के प्रमुख सौरभ गांगुली दिखाई देते हैं। बता दें कि गांगुली को शनिवार को दिल का दौरा पड़ा था और उनकी एंजियोप्लास्टी की गयी। इसके बाद से सोशल मीडिया पर कंपनी के विज्ञापनों का मजाक उड़ाया जा रहा था। 

कंपनी की ओर से कहा जा रहा है कि ब्रैंड की क्रिएटिव एजेंसी मामले को देख रही हौ और नए आइडिया पर काम कर रही है। गांगुली को पिछले साल जनवरी में फॉर्च्यून राइस ब्रान (Fortune Rice Bran) ऑयल का ब्रैंड एंबेसेडर बनाया गया था। लॉकडाउन के दौरान बनाए गए विज्ञापन में वह हार्ट की देखभाल को बढ़ावा देते नजर आते हैं। 

कीर्ति आजाद ने किया ये विवादित ट्वीट
ट्रॉलर्स के साथ-साथ पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने भी गांगुली का मजाक उड़ाया था। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा- दादा जल्द स्वस्थ हो जाइए। हमेशा ऐसा प्रोडक्ट्स को प्रमोट करें जिनका पहले इस्तेमाल किया जा चुका हो और उनका पर भरोसा किया जा सके।

 

शनिवार को हुई थी तबीयत खराब 
बता दें कि सौरव गांगुली की तबीयत शनिवार (2 जनवरी) सुबह अचानक खराब हो गई थी। गांगुली को अपने घर के जिम में वर्कआउट करने के दौरान सीने में दर्द हुआ। इसके बाद परिजनों ने उन्हें तुरंत कोलकाता के वुडलैंड्स अस्पताल में एडमिट कराया। 48 वर्षीय सौरव गांगुली की एंजियोप्लास्टी की गई। कोलकाता के वुडलैंड्स अस्पताल में उनका इलाज करने वाले डॉ. आफताब खान ने बताया था कि सौरव गांगुली की एंजियोप्लास्टी हुई है।

कल मिल सकती है छुट्टी
वरिष्ठ चिकित्सकों के 9 सदस्यीय बोर्ड ने सोमवार को गांगुली की सेहत पर चर्चा की। जाने-माने हृदयरोग विशेषज्ञ डॉ. देवी शैट्टी और डॉ. आर.के. पांडा अमरीका के एक अन्य विशेषज्ञ ऑनलाइन तरीके से बैठक में शामिल हुए। सौरव के हृदय तक जाने वाली उनकी 3 प्रमुख धमनियों में अवरोध पाया गया है जिसे ‘ट्रिपल वैसल डिसीज’ भी कहते हैं। मैडीकल बोर्ड में यह आम सहमति बनी कि चूंकि गांगुली की सेहत स्थिर है, सीने में दर्द नहीं है, ऐसे में उनकी दूसरी एंजियोप्लास्टी फिलहाल टालना सुरक्षित विकल्प होगा, लेकिन आने वाले कुछ दिनों या हफ्तों में एंजियोप्लास्टी करनी ही होगी। उन्हें संभवत: परसों तक अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी।

 

खबरें और भी हैं...