दैनिक भास्कर हिंदी: बहुपक्षवाद पर कायम रहेगा एआईआईबी

July 30th, 2020

हाईलाइट

  • बहुपक्षवाद पर कायम रहेगा एआईआईबी

बीजिंग, 30 जुलाई (आईएएनएस)। एशियाई आधारभूत संस्थापन निवेश बैंक (एआईआईबी) की 5वीं परिषद का वार्षिक सम्मेलन वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिये 28-29 जुलाई को आयोजित हुआ। इस सम्मेलन में उपस्थित प्रतिनिधियों ने कहा कि एआईआईबी बहुपक्षवाद पर कायम रहेगा और अंतरराष्ट्रीय बहुपक्षवाद सहयोग की नयी मिसाल तैयार करने की कोशिश करेगा।

इस साल कोविड-19 महामारी से विश्व अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान पहुंचा है। एआईआईबी ने समय पर 1000 करोड़ अमेरिकी डॉलर की संकटमोचन कोष स्थापित की, ताकि विभिन्न सदस्यों को महामारी के निपटारे और आर्थिक बहाली में मदद मिल सके। अब तक इस कोष ने भारत, बंगलादेश, थाईलैंड समेत 12 देशों को 590 करोड़ से अधिक अमेरिकी डॉलर का समर्थन दिया है।

29 जुलाई की रात हुई ऑनलाइन उपमंच पर एआईआईबी महानिदेशक चिन लीछुन ने कहा कि इस महामारी से कई कम आय वाले देशों की कमजोरी जाहिर हुई, खासकर चिकित्सा और स्वास्थ्य क्षेत्र में। इस पर एआईआईबी भविष्य में खास ध्यान देगा।

चिन ली छुन ने आगे कहा, महामारी के साथ वैश्विक संघर्ष बहुपक्षवाद से अलग नहीं हो सकता है। कोविड-19 महामारी से कोई भी देश अकेला नहीं बच सकता। यही कारण है कि हमने एशियाई विकास बैंक और यूरोपीय पुनर्निमाण और विकास बैंक के साथ सहयोग कर कई देशों को चिकित्सक उपकरण दिये हैं, निजी उद्यमों को तरलता प्रदान की है और सरकारों के लिए वित्तीय समर्थन दिया है। पिछले 4-5 महीने में बहुपक्षवाद के समर्थन के बगैर आप कल्पना नहीं कर सकते कि कम आय वाले देश कौन-सी कठिनाइयों का सामना करेंगे।

वहीं, एआईआईबी अंतरराष्ट्रीय सलाहकार मंडल के सदस्य और पूर्व नाइजीरियाई वित्त मंत्री न्गोजी ओकोनजो इवीला ने कहा कि एआईआईबी को नयी चुनौतियों के सामने बहुपक्षवाद पर कायम रहना चाहिए।

(साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग)

-- आईएएनएस

खबरें और भी हैं...