दैनिक भास्कर हिंदी: Coronavirus: कैश से फैल सकता है संक्रमण? सरकार ने बैंकों से कहा- डिजिटल पेमेंट्स के लिए लोगों को करें प्रेरित

March 19th, 2020

हाईलाइट

  • नोट बैंक से फैल सकता है संक्रमरण!
  • एक हाथ से दूसरे हाथों में संक्रमण पहुंचने का खतरा
  • खतरे से बचने सरकार ने बैंकों को दिए निर्देश

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बैंक नोट एक हाथ से दूसरे हाथ में जाते हैं, ऐसे में कई बार संक्रमित व्यक्ति द्वारा छुए जाने पर वायरस एक जगह से दूसरी जगह पहुंचते हैं। सीधे तौर पर कहा जाए तो नोट बैंक भी वायरस फैलाने में अहम भूमिका निभाते हैं। ऐसे में सरकार ने वर्तमान में कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए बैंकों से ग्राहकों को डिजिटल पेमेंट्स के लिए प्रेरित करने की बात कही है।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते दुनिया के कई देशों में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है। वहीं भारत में भी इस महामारी से बचने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।  

चार साल में पहली बार निफ्टी 8000 से नीचे पहुंचा

डिजिटल पेमेंट्स की सलाह
सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरे को देखते हुए बैंकों से कहा कि वह ग्राहकों को कैश की जगह यूपीआई, एनईएफटी, मोबाइल बैंकिंग, डेबिट और क्रेडिट कार्ड्स जैसे डिजिटल पेमेंट्स के लिए प्रेरित करें। 

बैंकों ने ग्राहकों को दिया संदेश
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए सरकार द्वारा बैंकों को मिले संदेश के बाद बैंकों ने अपने ग्राहकों से डिजिटल और फोन बैंकिंग सुविधाओं को उपयोग करने को कहा है। बैंकों ने अपने ग्राहकों को एडवाइजरी जारी कर कहा है कि वो बैंकिंग सर्विस लेने के लिए बैंक ब्रांच नहीं जाएं बल्कि ऑनलाइन बैंकिंग का इस्तेमाल अधिक से अधिक करें। 

लगातार तीसरे दिन पेट्रोल और डीजल के दाम स्थिर

भेजा नोटिफिकेशन
नोटिफिकेशन के अनुसार, कैश कोरोना वायरस के फैसले का एक जरिया हो सकता है। ऐसे में बैंकों को निर्देश दिए गए हैं कि वो SMS, ईमेल, सोशल मीडिया के जरिए ग्राहकों को कैश से दूरी बनाने की सलाह दें। लोगों को जागरूक करें। वहीं बैंक, एटीएम पर बैनर लगाने की सलाह दी गई है।

सैनिटेशन की सुविधा
इसके अलावा, सरकार ने बैंककर्मियों, एजेंटों, ग्राहक सेवा प्रदाताओं को ग्राहकों के लिए सैनिटेशन की सुविधा भी सुनिश्चित करने को कहा है। बता दें कि कई बार बैंकों में जाने पर यहां संचालित पेमेंट सिस्टम के लिए बायोमीट्रिक रीडर और एटीएम जैसे उपकरणों को छूने पर संक्रमण का खतरा रहता है।