comScore

Fuel Price: पेट्रोल- डीजल की लॉकडाउन में यहां बढ़ी कीमत, जानें आज की कीमत

Fuel Price: पेट्रोल- डीजल की लॉकडाउन में यहां बढ़ी कीमत, जानें आज की कीमत

हाईलाइट

  • कोलकाता में बढ़ी पेट्रोल और डीजल की कीमत
  • कोलकाता में पेट्रोल 73.30 और डीजल 65.62 रुपए /l है
  • बीते 17 दिनों से कंपनियों ने नहीं बदले पेट्रोल डीजल के दाम

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट जारी है, ऐसे में घरेलू बाजार में पेट्रोल और डीजल की कीमत बीते 17 दिनों से स्थिर बनी हुई हैं। भारतीय तेल विपणन कंपनियों ने आज (02 अप्रैल, गुरूवार) सुबह भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में किसी प्रकार का कोई बदलाव नहीं किया है। 

हालांकि देश में एक महानगर ऐसा भी है, जहां लॉकडाउन के बावजूद पेट्रोल और डीजल दोनों के रेट में बढ़ोतरी की गई है। ये शहर है कोलकाता, जहां 1 अप्रैल को बदलाव देखने को मिला। यहां पेट्रोल 1.01 रुपए और डीजल1 रुपए महंगा हो गया। आइए जानते हैं आज की कीमतें...

ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन परमिट की वैधता 30 जून तक बढ़ाई

पेट्रोल की कीमत
इंडियन ऑयल की वेबसाइट के अनुसार आज देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 69.59 रुपए प्रति लीटर बेचा जा रहा है। वहीं मुंबई में पेट्रोल की कीमत 75.30 रुपए प्रति लीटर  है। कोलकाता में पेट्रोल का रेट 73.30 रुपए प्रति लीटर के स्तर पर आ गया है। जबकि चेन्नई में पेट्रोल 72.28 रुपए प्रति लीटर की कीमत पर स्थिर है।

डीजल की कीमत
बात करें डीजल की तो दिल्ली में कीमत 62.29 रुपए प्रति लीटर है। मुंबई में 65.21 रुपए प्रति लीटर बेचा जा रहा है। वहीं कोलकाता में एक लीटर डीजल की कीमत 65.62 रुपए प्रति लीटर हो गया है। जबकि चैन्नई में एक लीटर डीजल के लिए 65.71 रुपए चुकाना होंगे।

EMI बाउंस होने की स्थिति में आपके CIBIL पर क्या होगा असर ?

BS-6 पेट्रोल- डीजल
आपको बता दें कि पेट्रोलियम कंपनियों ने 1 अप्रैल से BS-6 मानक वाले पेट्रोल, डीजल की बिक्री शुरू कर दी है। इंडियन ऑयल, हिंदुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम कॉरपोरेशन समेत तीनों ऑयल कंपनियों ने अपने सभी पंपों पर एक हफ्ता पहले ही BS-6 मानक ईंधन की सप्लाई शुरू कर दी थी। इस मानक के लिए कंपनियों ने 35,000 करोड़ का निवेश किया। लेकिन इसकी औपचारिक घोषणा नहीं की थी बल्कि एक अप्रैल से इसकी बिक्री का औपचारिक एलान किया था। 

IOC के अधिकारियों के अनुसार BS-6 ईंधन में सल्फर व लेड का उत्सर्जन बहुत कम होता है। BS-4 ईंधन में जहां सल्फर की मात्रा 50 पीपीएम (पार्ट्स प्रति मिलियन) होती है, वहीं BS-6 ईंधन में सल्फर की मात्रा पांच गुना कम हो जाती है।

कमेंट करें
zqZtN